Sunday, July 25, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाजमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के आतंकी असदुल्लाह शेख को NIA ने चेन्नई से किया गिरफ्तार

जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के आतंकी असदुल्लाह शेख को NIA ने चेन्नई से किया गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि असदुल्लाह पश्चिम बंगाल के बर्दवान शहर का निवासी है। उसे उसके चेन्नई के किराए वाले घर से गिरफ्तार किया गया है।

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) को मंगलवार (सितम्बर 10, 2019) को बड़ी कामयाबी मिली है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई से मंगलवार सुबह एक आतंकवादी को एनआईए ने जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया। पकड़े गए आतंकवादी का नाम असदुल्लाह शेख है। 

पुलिस ने बताया कि असदुल्लाह पश्चिम बंगाल के बर्दवान शहर का निवासी है। उसे उसके चेन्नई के किराए वाले घर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने कहा कि उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। असदुल्लाह को कल (सितम्बर 11, 2019) अदालत में पेश किया जाएगा, जहाँ उसकी ट्रांजिट रिमांड माँगी जाएगी।

आतंकवादी की गिरफ्तारी के बाद से ही पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। एनआइए ने पूरे इलाके को घेर लिया है। इससे पहले 2 सितंबर को कोलकाता पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के संदिग्ध सदस्य को गिरफ्तार किया था। सूचना मिलने पर एसटीएफ के दल ने गजनबी ब्रिज के पास कनाल ईस्ट रोड से 22 वर्षीय मोहम्मद अब्दुल कासिम उर्फ कासिम को गिरफ्तार किया था। कासिम बर्दवान जिले के मंगलकोटे पुलिस थाना क्षेत्र के दुरमुट गाँव का रहने वाला है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान में भगवा ध्वज फाड़ने वाले कॉन्ग्रेस MLA को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा: वायरल वीडियो का FactChek

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लाठी-डंडा लिए भीड़ एक शख्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है।

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,067FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe