Monday, November 28, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाआतंक पर योगी सरकार लगाएगी नकेल: जम्मू-कश्मीर में बंद 26 आतंकियों को भेजा जा...

आतंक पर योगी सरकार लगाएगी नकेल: जम्मू-कश्मीर में बंद 26 आतंकियों को भेजा जा रहा यूपी, स्लीपर सेल के जरिए फैला रहे थे आतंकवाद

ये 26 आतंकी कश्मीर की जेलों में बंद थे, जहाँ से उन्हें निकालकर हाई सिक्योरिटी के बीच श्रीनगर एयरपोर्ट पहुँचाया गया। फिर वहाँ से इन आतंकियों को चार्टर्ड प्लेन के जरिए आगरा भेजा जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर में अचानक बढ़ी आतंकी घटनाओं को रोकने के लिए सख्ती शुरू हो गई है। इसके लिए केंद्र शासित प्रदेश की जेलों में बंद ए और बी कैटेगरी के हार्डकोर आतंकियों को दूसरे राज्यों की जेलों में शिफ्ट किया जा रहा है। कश्मीर घाटी की अलग-अलग सेंट्रल जेलों में बंद 26 आतंकियों का पहला ग्रुप शुक्रवार (22 अक्टूबर 2021) को ही उत्तर प्रदेश की आगरा सेंट्रल जेल के लिए रवाना कर दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासन ने इन आतंकियों को शिफ्ट करने का आदेश जम्मू एंड कश्मीर पब्लिक सेफ्टी एक्ट-1978 की धारा 10 (बी) के तहत जारी किया है। बताया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर की जेलों में बंद ऐसे 100 आतंकियों की लिस्ट तैयार की गई है, जो सुरक्षा बलों की तरफ से तैयार की गई है। ए और बी कैटेगरी के आतंकियों की लिस्ट में शामिल हैं। ये आतंकी जेल में रहकर भी बाहर अपने स्लीपर सेल के साथ लिंक जोड़े हुए हैं।

मीडिया में सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि हालिया आतंकी घटनाओं को जेल में बंद ऐसे ही आतंकियों ने अपरोक्ष तरीके से स्लीपर सेल के जरिए अंजाम दिया है या घटना को अंजाम देने वाले आतंकियों की मदद अपने स्लीपर सेल से कराई है। 30 आतंकी ए कैटेगरी में जबकि 70 आतंकी बी कैटेगरी में रखे गए हैं। सुरक्षा बलों ने इनके जेलों से फरार होने का खतरा जताया था।​​​​​

इन 100 आतंकियों की लिस्ट में से सबसे पहले 26 आतंकियों को दूसरे राज्यों की जेल में भेजा जा रहा है। ये 26 आतंकी कश्मीर की जेलों में बंद थे, जहाँ से उन्हें निकालकर हाई सिक्योरिटी के बीच श्रीनगर एयरपोर्ट पहुँचाया गया। फिर वहाँ से इन आतंकियों को चार्टर्ड प्लेन के जरिए आगरा भेजा जा रहा है।

जम्मू में सेना की व्हाइट नाइट कॉर्प्स के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल एमवी सुचिंद्र कुमार के नेतृत्व में एक हाई सिक्योरिटी रिव्यू किया गया। इसमें सीआईएफ (डी), जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के एडीजी और आईजी व बीएसएफ के डीआईजी समेत कई अन्य पुलिस व सेना के अधिकारी शामिल थे। इस बैठक में हाल में हुई आतंकी घटनाओं पर चर्चा की गई। साथ ही सभी सुरक्षा बलों के बीच आपसी तालमेल की भी समीक्षा की गई।

गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों में घाटी के अंदर आतंकी हमलों में तेजी आई है। आतंकियों द्वारा घाटी में गैर-कश्मीरियों की हत्या करने की कई वारदातें हुई हैं। ऐसे में सुरक्षाबल पूरी सतर्कता के साथ काम कर रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मध्य प्रदेश में ‘मोदी-मोदी’ और ‘जय श्रीराम’ नारे से हुआ राहुल गाँधी की यात्रा का स्वागत, गिर कर जख्मी हुए पार्टी का महासचिव

'मोदी-मोदी' के नारे लगा रहे युवकों को राहुल गाँधी ने अपने पास बुलाया, लेकिन तब तक वे वहाँ से निकल गए। इसके बाद 'भारत जोड़ो यात्रा' आगे बढ़ गई।

उर्फी जावेद के सामने टिकती भी नहीं ऋचा-तापसी-स्वरा, SRK-अल्लू अर्जुन को दे रही टक्कर: Google सर्च में अतरंगी ड्रेस के आगे ‘एजेंडा’ फीका

पिछले 12 महीनों के ट्रेंड की तुलना में तापसी, ऋचा और स्वरा भास्कर के पास PR टीम होने के बावजूद उर्फी इन तीनों से कहीं अधिक ट्रेंड कर रही हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,826FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe