Tuesday, September 28, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाJ&K में जिहाद के नाम पर महिलाओं का यौन शोषण, मारे गए आतंकियों के...

J&K में जिहाद के नाम पर महिलाओं का यौन शोषण, मारे गए आतंकियों के पास से फिर मिले कंडोम और वियाग्रा

सुरक्षाबलों ने कश्मीर में मारे गए आतंकवादियों के पास से इस्तेमाल किए गए कंडोम और कंडोम के पैकेट बरामद किए हैं। इनके पास मिली वियाग्रा को देख भी पता चलता है कि आतंकवादी महिलाओं के यौन शोषण में लिप्त थे।

जम्मू-कश्मीर के राजौरी के थानामंडी में घुसपैठ के दौरान मारे गए दो आतंकियों की छानबीन में उनके पास से कई कंडोम और वियाग्रा बरामद हुए हैं। आतंकियों के पास से बरामद इन चीजों को देख कहा जा रहा है कि अब आतंकियों को जम्मू-कश्मीर की निर्दोष महिलाओं का यौन शोषण करने के लिए भेजा जा रहा है।

रिपब्लिक टीवी की रिपोर्ट के अनुसार सुरक्षा प्रतिष्ठान के शीर्ष अधिकारी ने उनको पुष्टि करते हुए कहा कि पहले भी सुरक्षाबलों ने कश्मीर में मारे गए आतंकवादियों के पास से इस्तेमाल किए गए कंडोम और कंडोम के पैकेट बरामद किए हैं। यौन शक्ति बढ़ाने वाली दवाओं जैसी सामग्री की बरामदगी से पता चलता है कि आतंकवादी महिलाओं के यौन शोषण में लिप्त थे

बता दें कि इससे पहले पिछले साल भी शोपियाँ में आतंकी ठिकाने से भारी मात्रा में कंडोम, वियाग्रा, गर्भनिरोधक गोलियॉं और पोर्न बरामद किया गया था। न्यूज चैनल्स के मुताबिक शोपियाँ में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने से कंडोम के 19 पैकेट, वियाग्रा टैबलेट के 5 पैकेट, पोर्न, गर्भनिरोधक गोलियों के 10 पैकेट आदि बरामद हुई थी। इन सबको देख अंदाजा लगाया गया था कि कश्मीर में इस्लाम के नाम पर जारी ‘जिहाद’ की आड़ में सेक्सुअल टेरर को अंजाम दिया जा रहा है और आतंकी कश्मीरी महिलाओं का यौन शोषण करते हैं। अब 1 साल बाद एक बार फिर ऐसी ही जानकारी सामने आई है।

उल्लेखनीय है कि एनकाउंटर के संबंध में पुलिस ने अपने बयान में बताया था कि 6 अगस्त 2021 को जम्मू-कश्मीर पुलिस को गाँव पंगई के सामान्य इलाके में आतंकियों के एक समूह के होने की सूचना मिली थी। फिर भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा एक संयुक्त तलाशी अभियान शुरू किया गया। तलाशी के दौरान, संयुक्त दल आतंकवादियों के करीबी संपर्क में आया, जिसके बाद उन्होंने तलाशी दल पर गोलियाँ बरसानी शुरू कर दी, लेकिन सुरक्षाबलों ने इसका प्रभावी ढंग से जवाब दिया। इस दौरान 2 आतंकवादियों को सफलतापूर्वक ढेर कर दिया गया। इनके पास से सेना को नौ मैगजीन और 232 राउंड के साथ दो एके 47 राइफल, चार ग्रेनेड, गोला-बारूद के पाउच, बैटरी, बैंडेज, गोलियाँ और रोजाना में काम आने वाली अन्य चीजें बरामद हुई हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,827FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe