Wednesday, May 22, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाकश्मीर में AK-56 सहित लश्कर आतंकी साहिल रमजान ने किया सरेंडर, वीडियो में देखें...

कश्मीर में AK-56 सहित लश्कर आतंकी साहिल रमजान ने किया सरेंडर, वीडियो में देखें कैसे मेजर ने बनाया संभव

वीडियो में दिख रहा है कि सेना के कुछ जवान एक इमारत में मौजूद हैं। मेजर शुक्ला खिड़की के पास आकर माइक के जरिए आतंकी से सरेंडर करने के लिए कहते हैं और उसे भरोसा दिलाते हैं कि उसे कुछ नहीं होगा।

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर के बारबर शाह इलाके में आज (26 जून, 2021) आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया जिसमें तीन राहगीरों के घायल होने की खबर है वहीं घेराबंदी करके आतंकियों की तलाश जारी है। इसी बीच एक सेना की एक खबर चर्चा में है जिसमें दक्षिण कश्मीर के शोपियाँ जिले में शुक्रवार (25 जून 2021) को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया, जबकि माँ-बाप का वास्ता देकर दूसरे आतंकी को सरेंडर करने के लिए मजबूर कर दिया।

सरेंडर करने वाले दूसरे आतंकी का नाम साहिल रमजान डार है। वह कश्मीर का ही रहने वाला है। सरेंडर के लिए अपील करते सेना के मेजर का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें वह साहिल को हथियार डालने की अपील कर रहे हैं।

पुलिस का कहना है कि सेना के मेजर के कहने पर लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी ने मुठभेड़ के दौरान एके-56 राइफल के साथ सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने वाले आतंकवादी की पहचान शोपियां जिला निवासी साहिल रमजान डार के तौर पर हुई है।

सेना के चिनार कॉर्प्स ने अपने ट्वविटर हैंडल @ChinarcorpsIA पर इस ऑपरेशन का वीडियो डाला है। वीडियो में दिख रहे सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल्स की चौधरीगुंड COB के मेजर शुक्ला ने आतंकी को सरेंडर करने के कहा। मेजर ने उसे परिवार और दोस्तों का वास्ता दिया, जिसके बाद साहिल रमजान डार एक AK-56 राइफल सहित सरेंडर कर दिया। वीडियो में दिख रहा है कि सेना के कुछ जवान एक इमारत में मौजूद हैं। मेजर शुक्ला खिड़की के पास आकर माइक के जरिए आतंकी से सरेंडर करने के लिए कहते हैं और उसे भरोसा दिलाते हैं कि उसे कुछ नहीं होगा।

मेजर ने माइक से अपील करते हुए आतंकवादी से कहा, “साहिल तुम्हें मेरी आवाज आ रही है? जब आवाज आ रही है तो मेरी बात सुनो। मैंने तुमसे पहले भी रिक्वेस्ट किया.. तुम्हें आखिरी वॉर्निंग दे रहा हूँ, रिक्वेस्ट कर रहा हूँ, इसे जो भी समझना है समझना.. अपना हथियार डाल दे, हाथ ऊपर कर ले और सरेंडर कर दे। मैं इस बात की गारंटी देता हूँ कि तुम्हें कुछ भी नहीं होगा, अगर तुम हथियार डालकर और हाथ ऊपर कर बाहर आते हो तो। अपने घरवालों को याद करो, अपने दोस्तों को याद करो और अपने माँ-बाप को याद करो। जब सब याद हैं बच्चे तो मेरी रिक्वेस्ट है कि हथियार डालकर, हाथ ऊपर कर बाहर निकल आ। मैं सरेंडर लेने के लिए तैयार हूँ। मैं चाहता हूँ कि तू सरेंडर करे। तेरे घरवालों को जानता हूँ इसलिए चाहता हूँ कि तू सरेंडर करे। उनके ऊपर जो गुजरेगी वो तू नहीं समझता, इसलिए बोल रहा हूँ कि हथियार डाल के सरेंडर कर दे।”

वहीं, सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है। सुरक्षाबलों को शोपियां जिले के हंजीपोरा इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिली थी। जानकारी मिलते ही सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया। इस दौरान आतंकी सुरक्षाबलों पर फायरिंग करने लगे। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी फायरिंग की। दोनों तरफ से हुई इस गोलीबारी में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया।

वहीं, शनिवार (26 जून 2021) को आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला किया। श्रीनगर के बारबार शाह में CRPF पार्टी पर ग्रेनेड फेंका गया। इस हमले में तीन नागरिक घायल हो गए हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत की ज्ञानकीर्ति का मुकुटमणि है कश्मीर का शंकराचार्य मंदिर: ईसाई-इस्लाम के आगामी प्रभाव से परिचित थे आचार्य शंकर, जानिए कैसे एक सूत्र में...

वैदिक ऋषियों की वेदोक्त समदृष्टि केवल उपदेश मात्र नही; अपितु यह उनका अनुभव जन्य साक्षात्कृत् ज्ञान है। जो सभी काल, स्थान, परिस्थिति में अनुकरणीय एवं अकाट्य हैं।

फर्जी वोटिंग करते पकड़े गए मोहम्मद सनाउल्लाह और 3 खातूनें, भीड़ ने थाने पर हमला कर सबको छुड़ाया: बिहार के जाले की घटना, 20...

फर्जी वोटिंग में पकड़े गए लोगों को छुड़ाने के लिए 130-140 लोगों ने थाने पर हमला कर दिया और पुलिस पदाधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार करते हुए चारों को पुलिस की अभिरक्षा से छुड़ा लिया

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -