Tuesday, July 23, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाइंडियन आर्मी से लड़ने के लिए हमने कश्मीरियों को ट्रेनिंग दी: पूर्व राष्ट्रपति ने...

इंडियन आर्मी से लड़ने के लिए हमने कश्मीरियों को ट्रेनिंग दी: पूर्व राष्ट्रपति ने ही Pak को किया बेनकाब

"हम दुनिया भर से मुजाहिदीनों को लेकर आए, हमने उन्हें प्रशिक्षित किया और हथियारों की आपूर्ति की। वे हमारे हीरो थे। हक़्क़ानी हमारा हीरो था। ओसामा बिन लादेन हमारा हीरो था।"

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति सेवानिवृत्त जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ ने यह क़बूल किया है कि कश्मीर में भारतीय सेना के ख़िलाफ़ लड़ने के लिए कश्मीरियों को पाकिस्तान में प्रशिक्षित किया गया था और उन्हें ‘हीरो’ कहा गया।

ख़बर के अनुसार, मुशर्रफ़ ने कहा कि ओसामा बिन लादेन और जलालुद्दीन हक़्क़ानी जैसे आतंकवादी ‘पाकिस्तानी हीरो’ हुआ करते थे।

पाकिस्तान के राजनेता फरहतुल्लाह बाबर द्वारा बुधवार को ट्विटर पर साझा किए गए एक साक्षात्कार क्लिप में, मुशर्रफ़ को यह कहते हुए सुना जा सकता है,

“… 1979 में, हमने पाकिस्तान को लाभ पहुँचाने और सोवियत को देश से बाहर निकालने के लिए अफ़ग़ानिस्तान में धार्मिक उग्रवाद की शुरुआत की थी। हम दुनिया भर से मुजाहिदीनों को लेकर आए, हमने उन्हें प्रशिक्षित किया और हथियारों की आपूर्ति की। वे हमारे हीरो थे। हक़्क़ानी हमारा हीरो था। ओसामा बिन लादेन हमारा हीरो था। तब का माहौल अलग था, लेकिन अब यह अलग है। हीरो ने खलनायक की ओर रुख़ कर लिया है।”

कश्मीर में अशांति के बारे में बात करते हुए, मुशर्रफ़ ने कहा,

“… पाकिस्तान में आने वाले कश्मीरियों का हीरो के तौर पर स्वागत किया जाता था। हम उन्हें प्रशिक्षित करते थे और उनका समर्थन करते थे। हम उन्हें भारतीय सेना से लड़ने वाले मुजाहिदीन मानते थे। इस अवधि में लश्कर-ए-तैयबा जैसे विभिन्न आतंकवादी संगठन उठे। वे हमारे हीरो थे।”

मुशर्रफ़ द्वारा उगला यह ज़हर इस बात का सबूत है कि जो पाकिस्तान, कश्मीर में किसी भी तरह के हस्तक्षेप की बात को हमेशा नकारता आया है, उसका यह दावा कितना खोखला है। वही पाकिस्तान, क्षेत्र में तनाव बढ़ाने के लिए आतंकवादियों को न सिर्फ़ प्रशिक्षित कर रहा है बल्कि आतंक फैलाने के लिए उनका इस्तेमाल भी करता आया है।

भारत ने एक बार नहीं बल्कि अनेकों बार कहा कि पड़ोसी देश (पाकिस्तान) आतंक को ख़त्म करने के लिए अपनी ज़मीन का इस्तेमाल करना बंद करे। लेकिन, पाकिस्तान अपनी ओछी हरक़तों से कभी बाज नहीं आता। अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस्लामाबाद को देश में सक्रिय आतंकवादी समूहों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए कहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -