Sunday, May 19, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाहिमाचल विधानसभा भवन के गेट पर लहराए गए खालिस्तान के झंडे, CM जयराम ठाकुर...

हिमाचल विधानसभा भवन के गेट पर लहराए गए खालिस्तान के झंडे, CM जयराम ठाकुर बोले- जहाँ भी होंगे, खोज निकालेंगे

इसके पहले अगस्त 2021 में SFJ आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने सीएम जयराम ठाकुर को धमकी दी थी कि वह उन्हें 15 अगस्त को तिरंगा नहीं फहराने देगा। आडियो संदेश में ये भी कहा गया था कि पंजाब के बाद वह हिमाचल में भी कब्जा करेगा, क्योंकि हिमाचल का कुछ क्षेत्र पहले पंजाब का हिस्सा था।

खालिस्तान समर्थकों (Khalistan) को हौसले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अब हिमाचल प्रदेश की शीतकालीन राजधानी धर्मशाला के विधानसभा परिसर के गेट पर खालिस्तानियों ने झंडे लगा दिए। रविवार (8 मई 2022) की सुबह जब विधानसभा की मेन गेट पर खालिस्तानी झंडे लगे और दीवारों पर खालिस्तान लिखा मिला तो लोगों के कान खड़े हो गए। सूचना मिलते ही पुलिस ने झंडे उतरवा दिए और लिखा हुआ खालिस्तान को पेंट करा दिया।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Himachal Pradesh CM Jairam Thakur) ने इस घटना पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि रात के अंधेरे में आने वालों में हिम्मत है तो वे दिन में आकर दिखाएँ। इस घटना में शामिल लोगों की पहचान के लिए पुलिस इलाके की CCTV फुटेज खंगाल रही है।

उन्होंने कहा, “यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। इस प्रकार के घटना को अंजाम देने वाले लोग नाकाम होंगे। मामले में FIR करने के बाद हमने जाँच के आदेश दे दिए हैं। धर्मशाला में हुई घटना के दोषी जहाँ भी होंगे उन्हें शीघ्र पकड़ा जाएगा। उन लोगों का यह कायरतापूर्ण दौर अब अधिक नहीं चलेगा। निश्चित तौर पर इस घटना को अंजाम देने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

बता दें कि खालिस्तान समर्थकों ने शिमला के विधानसभा परिसर पर खालिस्तान का झंडा फहराने की धमकी दी थी। हालाँकि, इसमें वे सफल नहीं हो पाए थे, लेकिन धर्मशाला के तपोवन स्थित विधानसभा परिसर में उन्होंने झंडे फहरा दिए।

बता दें कि मार्च 2022 में जयराम ठाकुर सरकार ने खालिस्तानी आतंकी भिंडरावाले की पोस्टर वाली गाड़ियों को राज्य में घुसने से रोकने का आदेश जारी किया था। सीएम जयराम ठाकुर ने स्पष्ट कहा थाकि हम ‘निशान साहिब’ (सिख ध्वज) का पूरा सम्मान करते हैं, लेकिन भिंडरावाले को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दरअसल, पंजाब से आने वाली कई गाड़ियों पर भिंडरावाले की तस्वीरों वाले बैनर लगे हुए थे, जिस पर ज्वालामुखी और मंडी जिलों के लोगों ने आपत्ति जताई थी। ऐसे कई सारे वीडियो सामने आए, जिनमें स्थानीय लोग इन झंडों को हटाने की माँग करते दिखे। इसके बाद सरकार ने ये एक्शन ले लिया।

ट्विटर यूजर अमन बाली ने भिंडरावाले का झंडा लिए एक सिख व्यक्ति का वीडियो शेयर किया, जिसमें कुछ भिंडरावाले के पोस्टर के इस्तेमाल पर आपत्ति जता रहे थे। अमन बाली ने इसे गुंडागर्दी करार देते हुए खालिस्तानी आतंकी को ‘संत जी’ कहा।

इसके पहले अगस्त 2021 में SFJ आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू (Gurpatwant Singh Pannu) ने हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर को धमकी दी थी कि वह उन्हें 15 अगस्त को तिरंगा नहीं फहराने देगा। आडियो संदेश में ये भी कहा गया था कि पंजाब के बाद वे हिमाचल में भी कब्जा करेंगे, क्योंकि हिमाचल का कुछ क्षेत्र पहले पंजाब का हिस्सा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गिरफ्तारी से आजादी’ अपने घोषणापत्र में लिखने वाली कॉन्ग्रेस ने गिरफ्तार करवाया एक आम नागरिक को… ‘न्याय’ सिर्फ एक परिवार तक सीमित होगा?

भिकू म्हात्रे ने 'कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम शब्द के इस्तेमाल' की बात जोर देकर कही, जिसे खुद कॉन्ग्रेस समर्थक नकार रहे थे।

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भिकू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भिकू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -