Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाJ&K: लश्कर के टॉप कमांडर इशफाक और आतंकी एजाज अहमद को सुरक्षाबलों ने किया...

J&K: लश्कर के टॉप कमांडर इशफाक और आतंकी एजाज अहमद को सुरक्षाबलों ने किया ढेर, एक CRPF जवान घायल

आतंकियों ने सुरक्षाबलों को घेरना शुरू कर दिया था। जिसके बाद आर्मी ने काउंटर ऑपरेशन शुरू किया। फायरिंग के दौरान एक आतंकी को निशाना बनाते हुए सुरक्षाबलों ने उसे टारगेट करके मार गिराया। फिर उसी के बाद जवानों ने उसके साथी को को भी ढेर कर दिया।

जम्मू-कश्मीर में पारिंपोरा के रणबीरगढ़ इलाके में सुरक्षाबलों ने शनिवार (25 जुलाई, 2020) सुबह हुई एक मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों को ढेर कर दिया। इनमें एक लश्कर का टॉप कमांडर इशफाक राशिद था। दूसरे आतंकी का नाम एजाज अहमद था।

सुरक्षा एजेंसियों को रणबीरगढ़ क्षेत्र में दहशतगर्दों के छिपे होने की खुफिया जानकारी मिली थी। मिली सूचना के आधार पर आर्मी और पुलिस के जवानों ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। सर्च ऑपरेशन के दौरान जब सभी घरों की तलाशी ली जा रही थी तभी एक घर से आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। आतंकियों के लगातार फायरिंग करने के जवाब में भारतीय सुरक्षाबलों को भी गोली चलानी पड़ी।

रिपोर्ट के अनुसार,आतंकियों ने सुरक्षाबलों को घेरना शुरू कर दिया था। जिसके बाद आर्मी ने काउंटर ऑपरेशन शुरू किया। फायरिंग के दौरान एक आतंकी को निशाना बनाते हुए सुरक्षाबलों ने उसे टारगेट करके मार गिराया। फिर उसी के बाद जवानों ने उसके साथी को को भी ढेर कर दिया। सुबह हुए एनकाउंटर में एक सीआरपीएफ जवान के घायल होने की भी सूचना है।

एक आतंकी की पहचान इशफाक राशिद नाम से हुई है। वह श्रीनगर के सोजिथ इलाके में रहने वाला था। इशफाक लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर था। वह 2018 में लश्कर का टॉप कमांडर बना था। उसका ठिकाना श्रीनगर था। वहीं वो अपनी आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देता था। राशिद सुरक्षाबलों की हिट लिस्ट में शामिल आतंकी था।

इसके अलावा दूसरे आतंकी की पहचान एजाज अहमद के तौर पर हुई है। उसका संबंध भी इसी आतंकी संगठन से मिला है। पुलवामा में रहने वाले आतंकी एजाज का लोग एजाज भट के नाम से जानते थे। एजाज लश्कर का प्रमुख आतंकवादी था। इनके एनकाउंटर से आतंकी गतिविधियों को कम करने में जवानों को बड़ी सफलता मिली है।

आतंकियों के पहचान के बाद पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए इलाके में इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई है।

जानकारी के अनुसार, इस इलाके में 2-3 आतंकियों के एक दल के छिपे होने की सूचना मिली है। इस सूचना के आधार पर सेना की 29 राष्ट्रीय राइफल्स ने जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी (SoG) और सीआरपीएफ (CRPF) जवानों के साथ इस इलाके में सर्च अभियान शुरू किया है और इलाके को चारो तरफ से घेर लिया है। कश्मीर जोन पुलिस ने ट्वीट के जरिए भी ये जानकारी साझा की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET-UG विवाद: क्या है NTA, क्यों किया गया इसका गठन, किस तरह से कराता है परीक्षाओं का आयोजन… जानिए सब कुछ

सरकार ने परीक्षाओं के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति की घोषणा की है

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -