Wednesday, January 26, 2022
Homeदेश-समाजLOC से सटे कुपवाड़ा में आतंकियों ने बना रखा था ठिकाना, हथियारों का जखीरा...

LOC से सटे कुपवाड़ा में आतंकियों ने बना रखा था ठिकाना, हथियारों का जखीरा मिला, 6 गिरफ्तार

टीआरएफ जेके के आतंकी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे टेलीग्राम मैसेंजर और वाट्सएप के जरिए पाकिस्तान में बैठे अपने हैंडलर से संपर्क में थे। हैंडलर की पहचान एंड्रयू जोनस व खान बिलाल के रूप में हुई है।

जम्मू-कश्मीर में आतंकी मंसूबों को अंजाम देने के लिए लश्कर ए-तैयबा ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI की मदद से ‘द रजिस्टेंस फ्रंट जम्मू-कश्मीर’ (टीआरएफ जेके) नामक नया आतंकी संगठन तैयार किया। इससे पहले ये संगठन कोई नापाक हरकत करता, पुलिस ने सेना की मदद से इसके 6 सदस्यीय मॉड्यूल को ध्वस्त कर बड़ी कामयाबी हासिल की। पुलिस ने इनके पास से बड़ी मात्रा में हथियार व गोला-बारूद बरामद किया है।

दैनिक जागरण की खबर के अनुसार, इस संगठन के आतंकियों को उत्तरी कश्मीर में कुछ खास लोगों की हत्या करने और सुरक्षाबलों पर हमले करने का जिम्मा सौंपा गया था। साथ ही इन्हें अपने संगठन में और लड़कों को शामिल करने के लिए भी कहा गया था। इस काम के लिए ये लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे टेलीग्राम मैसेंजर और वाट्सएप के जरिए पाकिस्तान में बैठे अपने हैंडलर से संपर्क में थे। हैंडलर की पहचान एंड्रयू जोनस व खान बिलाल के रूप में हुई है।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस को सूचना मिली थी कि सोपोर में अस्पताल के पास हथियारों की डिलीवरी होने वाली है। इसी सूचना पर पुलिस ने अपने दस्ते को अस्पताल के आसपास तैनात कर दिया। हथियारों के लेनदेन के लिए जब 4 संदिग्ध पहुँचे तो फौरन उन्हें पकड़ लिया गया। इनकी पहचान एहतिशाम फारूक मलिक, शफकत अली टागू, मुसैब हसन बट व निसार अहमद गनई के रूप में हुई है।

पुलिस ने पकड़े गए संदिग्धों के पास से 1 पिस्तौल और 12 ग्रेनेड बरामद किए। पकड़े गए चारों युवक सोपोर के विभिन्न हिस्सों के निवासी हैं। इसके अलावा इस कार्रवाई में कुपवाड़ा जिले के केरन का कबीर अहमद लोन व शराफत को भी पुलिस ने पकड़ा है। एसएसपी सोपोर जावेद इकबाल के मुताबिक पकड़े गए सभी लोग लश्कर से हैं और इनकी गिरफ्तारी बीते 24 घंटों के दौरान हुई है।

पुलिस के अनुसार, उन्हें शराफत से पूछताछ में इस बात का पता चला उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटे कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में बनाए गए ठिकाने में हथियारों को छिपाया गया है। इसके बाद, पुलिस ने सेना की 6 राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों की मदद से हथियारों के जखीरे को जब्त कर लिया।

इसमें 8 एसाल्ट राइफलें, 25 एके मैगजीन, 750 एके कारतूस, 16 मैगजीन और 351 कारतूसों समेत 9 पिस्तौल, 77 ग्रेनेड व 21 डेटोनेटर फ्यूज हैं। बता दें सुरक्षाबलों ने रविवार रात को ही इस ठिकाने को नष्ट किया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माइनस 40 डिग्री हो या 15000 फीट की ऊँचाई… ITBP के हिमवीरों ने तिरंगा फहरा यूँ मनाया 73वाँ गणतंत्र दिवस

सीमाओं की रक्षा में तैनात भारतीय तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) ने लद्दाख और उत्तराखंड की बर्फीली ऊँचाई वाली चोटियों में तिरंगा फहराया।

लाल किला में पेशाब से लेकर महिला पुलिस से बदतमीजी तक: याद कीजिए 26 जनवरी, 2021… जब दिल्ली में खेला गया था हिंसक खेल

आइए, याद करते हैं 26 जनवरी, 2021 (गणतंत्र दिवस) को दिल्ली में क्या-क्या हुआ था। किसान प्रदर्शनकारियों ने हिंसा के दौरान क्या-क्या किया। नेताओं-पत्रकारों ने कैसे उन्हें भड़काया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,622FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe