Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाश्रीनगर के लाल चौक के पास सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर ग्रेनेड हमला: 1 की...

श्रीनगर के लाल चौक के पास सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर ग्रेनेड हमला: 1 की मौत, करीब 15 घायल

इस ग्रेनेड हमले में 1 नागरिक की मृत्यु के साथ, सुरक्षाकर्मियों समेत आम नागरिकों के घायल होने की ख़बर है। घायलों को अस्पताल पहुँचाया गया है। साथ ही सुरक्षाबलोंं ने हमले के तुरंत बाद इलाक़े की घेराबंदी कर आतंकवादियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया।

जम्मू कश्मीर में श्रीनगर के हरि सिंह हाई स्ट्रीट पर ग्रेनेड हमले की ख़बर सामने आई है। पुलिस ने जानकारी दी है कि इस हमले में 1 की मौत और करीब 15 लोग घायल हुए हैं। आतंकियों द्वारा किया गया यह हमला दोपहर 1:20 बजे हुआ।

ख़बर के अनुसार, श्रीनगर में अमीराकदल पुल के पास गनी ख़ान इलाक़े में मौलाना आज़ाद रोड पर संदिग्ध आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर ग्रेनेड हमला किया। इसमें सुरक्षाकर्मियों समेत आम नागरिकों के घायल होने की ख़बर है। घायलों को पुलिस और सुरक्षाबलों की मदद से अस्पताल पहुँचाया गया है। साथ ही सुरक्षाबलोंं ने हमले के तुरंत बाद इलाक़े की घेराबंदी कर आतंकवादियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया।

जानकारी के अनुसार, आतंकवादियों ने यह ग्रेनेट हमला उस वक्त किया जब लोग बााज़ार में ख़रीददारी कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि यहाँ लगी रेहड़ियों से लोग फल-सब्ज़ियाँ लेने आते हैं और अक्सर यहाँ भीड़ लगी होती है। आतंकियों पर नज़र बनाए रखने के लिए इलाक़े में सुरक्षाबलों की तैनाती भी काफ़ी अधिक रहती है।

पिछले महीने 26 अक्टूबर को श्रीनगर के करन नगर इलाक़े में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल के एक दल पर आतंकवादियों ने ग्रेनेड हमला किया था। इस दौरान छ: जवान ज़ख़्मी हुए थे। हमला CRPF की 144वीं बटालियन को निशाना बनाकर किया गया था, जो सुरक्षा चौकी पर तैनात था। इससे पहले, हाई सिक्योरिटी कहे जाने वाले हरि सिंह मार्ग पर हुए ग्रेनेड हमले में 11 लोग घायल हुए थे।

इसके अलावा, कश्मीर के अनंतनाग में 5 अक्टूबर को भी आतंकियों ने एक ग्रेनेड हमले की घटना को अंजाम दिया था, जिसमें क़रीब 14 लोग घायल हुए थे। इस हमले में घायल हुए लोगों में एक पत्रकार और एक ट्रैफ़िक पुलिसकर्मी भी शामिल थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सहिष्णुता और शांति का स्तर ऊँचा कीजिए’: हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर जिस कर्मचारी को Zomato ने निकाला था, उसे CEO ने फिर बहाल...

रेस्टॉरेंट एग्रीगेटर और फ़ूड डिलीवरी कंपनी Zomato के CEO दीपिंदर गोयल ने उस कर्मचारी को फिर से बहाल कर दिया है, जिसे कंपनी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बताने पर निकाल दिया था।

बांग्लादेश के हमलावर मुस्लिम हुए ‘अराजक तत्व’, हिंदुओं का प्रदर्शन ‘मुस्लिम रक्षा कवच’: कट्टरपंथियों के बचाव में प्रशांत भूषण

बांग्लादेश में हिंदू समुदाय के नरसंहार पर चुप्पी साधे रखने के कुछ दिनों बाद, अब प्रशांत भूषण ने हमलों को अंजाम देने वाले मुस्लिमों की भूमिका को नजरअंदाज करते हुए पूरे मामले में ही लीपापोती करने उतर आए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe