Tuesday, July 23, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षास्वतंत्रता दिवस पर बड़े आतंकी हमले की साजिश का पर्दाफाश, ड्रोन से मँगाए गए...

स्वतंत्रता दिवस पर बड़े आतंकी हमले की साजिश का पर्दाफाश, ड्रोन से मँगाए गए थे हथियार: खालिस्तानी मॉड्यूल के 3 गिरफ्तार

तरनतारन के SSP विशालजीत सिंह ने बताया कि CIA स्टाफ के प्रभारी इंस्पेक्टर प्रभजीत सिंह के बयान पर इस मॉड्यूल के खिलाफ थाना सरहाली में मामला दर्ज किया गया है। एफआईआर में लखबीर सिंह लंडा (कनाडा), हरविंदर सिंह रिंदा, लखबीर सिंह रोडे (पाकिस्तान), गुरदेव सिंह जैसल, सतबीर सिंह सत्ता (यूरोप) आदि का नाम शामिल है।

पंजाब पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस पर राज्य में माहौल खराब करने की साजिश रच रहे एक आतंकी मॉड्यूल का खुलासा किया है। पुलिस ने रविवार (13 अगस्त 2023) को इस मॉड्यूल के तीन आरोपितों- सुखमनप्रीत, प्रदीप और अक्षम को गिरफ्तार कर लिया है। यह मॉड्यूल इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (ISYF) का है।

इस पूरे मामले में पाकिस्तान में बैठे ISYF के अध्यक्ष लखबीर सिंह रोडे, हरविंदर सिंह रिंदा और कनाडा में बैठे आतंकवादी लखबीर सिंह लांडा का नाम सामने आ रहा है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के सहयोग से नया मॉड्यूल तैयार किया है। पुलिस ने रविवार को तरनतारन के सरहली थाने में इस मॉड्यूल से जुड़े 8 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

यह गिरोह व्यापारियों, डॉक्टरों और अमीर लोगों को जान से मारने की धमकी देकर पैसे वसूलते थे। इसके साथ पंजाब में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की साजिश रची थी। इसके लिए ड्रोन के जरिए पाकिस्तान से हथियार और गोला-बारूद मँगवाया गया था। इसकी भनक लगते ही आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई।

तरनतारन के SSP विशालजीत सिंह ने बताया कि CIA स्टाफ के प्रभारी इंस्पेक्टर प्रभजीत सिंह के बयान पर इस मॉड्यूल के खिलाफ थाना सरहाली में मामला दर्ज किया गया है। एफआईआर में लखबीर सिंह लंडा (कनाडा), हरविंदर सिंह रिंदा, लखबीर सिंह रोडे (पाकिस्तान), गुरदेव सिंह जैसल, सतबीर सिंह सत्ता (यूरोप) का नाम शामिल है।

इसके लिए पंजाब पुलिस द्वारा रविवार को दर्ज की गई FIR में यादविंदर सिंह यादा, गुरचरण सिंह गुरी शेरों, गुरविंदर सिंह गिंदा, अर्शप्रीत सिंह नूरदी, जोबनजीत सिंह मालिया, सुखमनप्रीत सिंह शेरों, प्रदीप सिंह शेरों का नाम भी इसमें शामिल है। जाँच में इस मॉड्यूल के जुड़े अन्य लोगों के नाम भी सामने आ सकते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेचुरल फार्मिंग क्या है, बजट में क्यों इसे 1 करोड़ किसानों से जोड़ने का ऐलान: गोबर-गोमूत्र के इस्तेमाल से बढ़ेगी किसानों की आय

प्राकृतिक खेती एक रसायनमुक्त व्यवस्था है जिसमें प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है, जो फसलों, पेड़ों और पशुधन को एकीकृत करती है।

नारी शक्ति को मोदी सरकार ने समर्पित किए ₹3 लाख करोड़: नौकरी कर रहीं महिलाओं और उनके बच्चों के लिए भी रहने की सुविधा,...

बजट में महिलाओं की हिस्सेदारी कार्यबल में बढ़ाने पर काम किया गया है। इसके अलावा कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास स्थापित करने का भी ऐलान हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -