Friday, December 3, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाSPO से आतंकी बने आदिल, जहाँगीर, वसीम वानी शोपियाँ मुठभेड़ में ढेर, भारी मात्रा...

SPO से आतंकी बने आदिल, जहाँगीर, वसीम वानी शोपियाँ मुठभेड़ में ढेर, भारी मात्रा में हथियार-गोला बारूद बरामद

"तीनों आतंकी वाची क्षेत्र में छिपे हुए थे। उन्हें सरेंडर करने का पूरा मौका दिया गया। लेकिन वे लगातार हमपर फायरिंग कर रहे थे। इसलिए हमें भी जवाबी फायर करना पड़ा। मुठभेड़ के दौरान स्थानीय नागरिकों को नुकसान न पहुँचे इसके लिए मुठभेड़ स्थल के आस-पास के घरों में रहने वाले लोगों को पहले ही सुरक्षित स्थानों पर पहुँचा दिया गया था।"

दक्षिण कश्मीर के शोपियाँ इलाके में अपने आतंकरोधी अभियान पर गंभीरता से एक्शन लेते हुए सुरक्षाबल ने सोमवार (जनवरी 20, 2020) को घंटों चली मुठभेड़ के बाद हिजबुल के 3 आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए तीन आतंकियों में एक नाम आदिल डार का भी है। जो कुछ समय पहले एसपीओ की नौकरी छोड़ आतंकवादी बना था और पूर्व विधायक अहमद डार के घर से सुरक्षाकर्मियों की राइफल लेकर फरार हो गया था। आदिल के अलावा मारे गए अन्य दो आतंकियों की पहचान जहाँगीर और वसीम वानी के रूप में हुई। सुरक्षाबल ने इनके पास से भारी तादाद में हथियार व गोला बारूद बरामद किए।

जानकारी के अनुसार इस मुठभेड़ में मिली कामयाबी के बाद भी सुरक्षाबल शांत नहीं बैठे हैं। आसपास के इलाकों में तलाशी अभियान जारी है। उन्हें शक है कि इलाके में कई अन्य आतंकी भी छिपे हो सकते हैं।

एसपीओ से आतंकी बना आदिल डार (तस्वीर साभार: दैनिक जागरण)

गौरतलब है कि बीते दिनों दक्षिण कश्मीर से आतंकी नवीद के पकड़े जाने के बाद शाेपियाँ में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच यह पहली मुठभेड़ थी। जिसमें इलाके की पुलिस ने सेना और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर सफलता हासिल की।

बता दें, इलाके में तीन आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद आज़ सुबह-सुबह ये तलाशी अभियान शुरू किया गया था। अभियान के दौरान सेना को सामने से आता देख आतंकियों ने छिपकर उनपर फायरिंग की और वहाँ से भागने का प्रयास किया। लेकिन इसी बीच जवानों ने खुद को सुरक्षित करते हुए जवाबी कार्रवाई में फायरिंग शुरू की। आतंकी भी इस दौरान सरेंडर को तैयार नहीं हुए। नतीजतन घंटों चली मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबल ने तीनों आतंकियों को मार गिराया। तलाशी में इनके पास से भारी तादाद में हथियार व गोला-बारूद बरामद हुए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शोपियाँ के एसएसपी संदीप चौधरी ने खुद तीनों आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया, “तीनों आतंकी वाची क्षेत्र में छिपे हुए थे। उन्हें सरेंडर करने का पूरा मौका दिया गया। लेकिन वे लगातार हमपर फायरिंग कर रहे थे। इसलिए हमें भी जवाबी फायर करना पड़ा। मुठभेड़ के दौरान स्थानीय नागरिकों को नुकसान न पहुँचे इसके लिए मुठभेड़ स्थल के आस-पास के घरों में रहने वाले लोगों को पहले ही सुरक्षित स्थानों पर पहुँचा दिया गया था।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियासत होय जब ‘हिंसा’ की, उद्योग-धंधा कहाँ से होय: क्या अडानी-ममता मुलाकात से ही बदल जाएगा बंगाल में निवेश का माहौल

एक उद्योगपति और मुख्यमंत्री की मुलाकात आम बात है। पर जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हों और उद्योगपति गौतम अडानी तो उसे आम कैसे कहा जा सकता?

पाकिस्तानी मूल की ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर मेहरीन फारुकी से मिलिए, सुनिए उनकी हिंदू घृणा- जानिए PM मोदी से उनको कितनी नफरत

मेहरीन फारूकी ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के अच्छे दोस्त PM नरेंद्र मोदी को घेरने के बहाने संघीय सीनेट में घृणा के स्तर तक उतर आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,299FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe