Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षासेना ने कुपवाड़ा में 2 आतंकियों को किया ढेर, मुठभेड़ जारी

सेना ने कुपवाड़ा में 2 आतंकियों को किया ढेर, मुठभेड़ जारी

इस मुठभेड़ में 1 CRPF सुरक्षाकर्मी के बलिदान और तीन के घायल होने की सूचना है। यह मुठभेड़ कुपवाड़ा के लंगेट इलाके में हो रही है।

भारत-पाकिस्तान में जारी तनाव के बीच जम्‍मू कश्‍मीर के कुपवाड़ा जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में अभी तक की सूचना के अनुसार दो आतंकी मरे गए हैं। इस मुठभेड़ में 1 CRPF सुरक्षाकर्मी के बलिदान और तीन के घायल होने की सूचना है। यह मुठभेड़ कुपवाड़ा के लंगेट इलाके में हो रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सीआरपीएफ के एक जवान के बलिदान के अलावा एक जवान घायल भी हुए। साथ ही, जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के दो पुलिसकर्मी कुपवाड़ा में आतंक विरोधी अभियान के दौरान आतंकियों की ओर से की गई फायरिंग में घायल हैं। एक आतंकी जिसे मरा हुआ मान लिया गया था, उसने एक क्षतिग्रस्‍त मकान से निकलकर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी, जिसकी वजह से सेना को नुकसान उठाना पड़ा।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने कुपवाड़ा जिले के बाबागुंड इलाके में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था। तलाश अभियान के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की।

बता दें कि दिन में कई बार बीच-बीच में गोलीबारी बंद हुई लेकिन जैसे ही सुरक्षाकर्मी घर की ओर बढ़े, इसी घर में छिपे हुए आतंकवादियों ने गोलियाँ चलानी शुरू कर दीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

परमाणु बम जैसा खतरनाक है ‘Deepfake’, आपके जीवन में ला सकता है भूचाल: जानिए इससे जुड़ी हर बात

विशेषज्ञ इसे परमाणु बम की तरह ही खतरनाक मानते हैं, क्योंकि Deepfake की सहायता से किसी भी देश की राजनीति या पोर्न के माध्यम से किसी की ज़िन्दगी में भूचाल लाया जा सकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe