Monday, July 4, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षासेना का हिस्सा नहीं बन पाएगा एक भी उपद्रवी, होगा पुलिस सत्यापन: लेफ्टिनेंट जनरल...

सेना का हिस्सा नहीं बन पाएगा एक भी उपद्रवी, होगा पुलिस सत्यापन: लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी का ऐलान – किसी कीमत पर वापस नहीं लेंगे ‘अग्निपथ’

लेफ्टिनेंट जनरल पुरी ने ये भी जानकारी दी कि पहले तो अग्निवीर में साथ जोड़ने से पहले पुलिस वेरिफिकेशन आदि किया जाएगा। यदि किसी गलती के कारण हिंसक प्रदर्शन में शामिल युवक सेना से जुड़ भी जाता है तो उसकी सच्चाई पता चलने के बाद उसे नौकरी से निकाल दिया जाएगा।

अग्निपथ योजना के खिलाफ सड़कों पर उतर कर किए जा रहे हिंसक प्रदर्शन के बीच अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी का बयान आया है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में चेतावनी देकर कहा है कि जो भी कोई युवा सड़कों पर होने वाले उपद्रव का हिस्सा होगा वह अग्निवीर के लिए एप्लाई नहीं कर सकता। 

उन्होंने जानकारी दी कि अभ्यार्थी को इस पोस्ट के लिए आवेदन देने से पहले ये डिक्लेयर करना होगा कि वह किसी प्रकार के दंगों में शामिल नहीं रहा। उन्होंने साफ किया अगर कोई भी युवक ऐसी गतिविधियों में शामिल है फिर वो भारतीय सेना नहीं ज्वॉइन कर सकता।

लेफ्टिनेंट जनरल पुरी ने ये भी जानकारी दी कि पहले तो अग्निवीर में साथ जोड़ने से पहले पुलिस वेरिफिकेशन आदि किया जाएगा। यदि किसी गलती के कारण हिंसक प्रदर्शन में शामिल युवक सेना से जुड़ भी जाता है तो उसकी सच्चाई पता चलने के बाद उसे नौकरी से निकाल दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि भारतीय सेना की नींव अनुशासन है। यहाँ आगजनी और तोड़फोड़ के लिए कोई जगह नहीं है। लेफ्टिनेंट जनरल पुरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “हर व्यक्ति को एक प्रमाण दिया जाएगा कि वह ऐसे प्रदर्शन और तोड़फोड़ का हिस्सा नहीं रहा। पुलिस सत्यापन तो 100 % होगा ही, उसके बिना किसी को ज्वाइनिंग नहीं दी जाएगी।”

अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल पुरी ने बताया कि अगर किसी अभ्यार्थी को लेकर ये पता चला कि उसके विरुद्ध एफआईआर हुई थी तो उसे सेना में जुड़ने का अवसर नहीं दिया जाएगा। सेना में अनुशासनहीनता नहीं बर्दाश्त की जाएगी। हर अभ्यार्थी लिखित में देगा कि वो हिंसा या आगजनी में शामिल नहीं थे।

उन्होंने योजना संबंधी जानकारी देते हुए कहा, अभी मंत्रालयों और सेना को इसकी प्रक्रिया और भावी फायदों का डिटेल बनाने में समय चाहिए। ये रातोंरात नहीं हो सकता। रही बात इसे वापसी लिए जाने की तो ये बिलकुल नहीं वापस ली जाएगी। वह पूछते हैं- “आखिर क्यों स्कीम वापस ली जाए। ये एक देश को युवाओं का बनाने के लिए है। आप जानते हैं क्या कि ऊँचाई वाली जगहों पर कितनी जान जाती है? जानें, फिर पता चलेगा हमें युवाओं की जरूरत क्यों है।”

सारे सवालों के जवाबों के साथ लेफ्टिनेंट जनरल पुरी ने ये भी बताया कि अग्निपथ को लेकर जो विरोध प्रदर्शन हुआ उसकी वजह से सरकार ने अपने नियम परिवर्तित नहीं किए, इनके ऊपर पहले से काम किया जा रहा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe