Thursday, January 20, 2022
Homeदेश-समाजमॉब लिंचिंग: अय्यूब और लल्लन ने मदरसा शिक्षक कारी ओवैस को पीट-पीटकर मार डाला

मॉब लिंचिंग: अय्यूब और लल्लन ने मदरसा शिक्षक कारी ओवैस को पीट-पीटकर मार डाला

चश्‍मदीदों का कहना है कि कारी को हेडफोन पसंद नहीं आया था और वह वहाँ से जाने लगा। लेकिन तभी दुकानदारों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पीटा।

पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास मॉब लिंचिंग की एक घटना सामने आई है। हेडफोन की कीमत पर हुई बहस को लेकर बदमाशों ने एक 27 वर्षीय मदरसा शिक्षक को पीट-पीटकर मार डाला। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कुछ युवक शिक्षक को बेरहमी से पीट रहे हैं, इस दौरान उसने भागकर जान बचाने की कोशिश भी की लेकिन उसे पकड़ लिया गया।

मॉब लिंचिंग की इस घटना में मदरसा शिक्षक की मौत हो गई। रिपोर्ट्स के अनुसार, सोमवार (अगस्त 26, 2019) रात को रेलवे स्‍टेशन के एग्जिट गेट से बाहर निकल रहा उत्‍तर प्रदेश के शामली का रहने वाला कारी ओवैस एक दुकान पर हैडफोन लेने के लिए रुका। इसी दौरान उसकी दुकानदार से बहस हो गई।

पीड़ित की पहचान उत्तर प्रदेश के शामली के रहने वाले कारी ओवैस के रूप में हुई है। वह ग्रेटर नोएडा के एक मदरसे में पढ़ाता था।

कारी ओवैस ने मोबाइल की लीड को पैकिंग से निकाल लिया था, जिसके बाद दुकानदार ने लीड वापस लेने से मना कर दिया। दुकानदार ने कहा कि सामान खोल दिया है और अब इसे वापस नहीं लेंगे। लेकिन कारी सामान वापस करने पर अड़ा हुआ था। इसी बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हो गया।

दोनों में बहस होते देख और दुकानदार भी मौके पर पहुँच गए और युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। गंभीर हालत में युवक को अरुणा आसफ अली अस्‍पताल ले जाया गया जहाँ डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने इस मामले में FIR दर्ज करने के बाद दो दुकानदारों लल्लन और अय्यूब को हिरासत में ले लिया है।

डीसीपी (नॉर्थ) हरेंद्र सिंह के अनुसार, “सूचना मिलते ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुँची और युवक को अरुणा आसफ अली हॉस्पिटल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। शुरुआती जानकारी के मुताबिक ओवैस को लल्लन और उसके साथी अय्यूब ने मारा था।”

पुलिस ने दोनों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (IPC Section 304) के तहत गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। कारी के परिवार वाले इसे हत्या का मामला बता रहे हैं जबकि पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही स्थिति साफ हो पाएगी।

हालाँकि, चश्‍मदीदों का कहना है कि कारी को हेडफोन पसंद नहीं आया था और वह वहाँ से जाने लगा। लेकिन तभी दुकानदारों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पीटा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बन रहा है यूपी, ग्रामीण इलाकों में भी 15000 Km सड़कें: CM योगी कुछ यूँ बदल रहे रोड इंफ्रास्ट्रक्चर

योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में 5 वर्षों में 15,246 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया। उत्तर प्रदेश में जल्द ही अब 6 एक्सप्रेसवे हो जाएँगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,298FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe