Saturday, October 1, 2022
Homeदेश-समाज26 जनवरी के दिन 'पाकिस्तान जिंदाबाद' और 'कश्मीर वापस लेंगे' के नारे: अरशद, इमरान...

26 जनवरी के दिन ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ और ‘कश्मीर वापस लेंगे’ के नारे: अरशद, इमरान समेत 4 गिरफ्तार

जयपुर-भोपाल ट्रेन में पाकिस्तान जिंदाबाद और कश्मीर वापस लेंगे जैसे नारे लगाए गए। मना करने पर मारपीट की गई। अरशद, इमरान, जैदखान और साहेबुद्दीन अजमेर जा रहे थे लेकिन रेलवे पुलिस ने...

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर जहाँ पूरे देश में 26 जनवरी को लेकर खुशी का माहौल था, उस समय जयपुर-भोपाल ट्रेन में पाकिस्तान जिंदाबाद और कश्मीर वापस लेंगे जैसे नारे लगाए गए। इस घटना के बाद पुलिस ने 4 युवकों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए चारों युवक उज्जैन से अजमेर जा रहे थे।

आरोपितों के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 153(ख)(1)(क) के अंतर्गत कार्रवाई हुई है। इसके तहत 3 साल की सजा का प्रावधान है। चारों आरोपितों की ट्रेन के अंदर बैठे एक वीडियो भी सामने आई है। हालाँकि इसमें वह नारे लगाते नहीं दिखाई दे रहे।

दैनिक भास्कर के अनुसार, सोमवार रात जयपुर-भोपाल एक्सप्रेस उज्जैन जंक्शन से 8.20 पर छूटी थी। इसके बाद कोच नंबर डी-2 में कुछ युवकों को राष्ट्रविरोधी बातें करते सुना गया। जब अन्य यात्रियों ने इस पर आपत्ति जताई, तो चारों युवक व उनके साथ के लोग मारपीट पर आमादा हो गए।

बात बढ़ी तो अन्य यात्रियों ने पुलिस को इसकी सूचना दे दी। लेकिन तब तक सभी आरोपित फरार होने की कोशिश करने लगे। जब ट्रेन रात 9:20 पर नागदा जंक्शन पहुँची, तो वहाँ जीआरपी ने चार युवकों को हिरासत में ले लिया। वहीं इनके कुछ साथी फरार हो गए।

टीआई ने घटना के संबंध में बताया कि पकड़े गए युवकों में शाजापुर का अरशद और इमरान खान और उज्जैन के आगर रोड सम्राट नगर निवासी जैदखान व खंदार मोहल्ला निवासी साहेबुद्दीन हैं। चारों और फरार हुए उनके साथी अजमेर जा रहे थे।

बता दें कि इस पूरे मामले में उज्जैन के अंकपात मार्ग निवासी सूरज सेन ने शिकायत करवाई है। सूरज ने आरोपितों पर इल्जाम लगाया कि वह, देश विरोधी बातें कर रहे थे, इसलिए पहले उन्होंने उन सबको ऐसा करने से मना किया। लेकिन बात मानने की बजाय युवकों ने उन्हीं के साथ मारपीट शुरू कर दी।

गौरतलब है कि इससे पहले पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का मामला दिल्ली के खान मार्केट से सामने आया था। स्थानीय लोगों की शिकायत पर पुलिस ने मौके पर पहुँच कर घटना में शामिल दो पुरुषों, एक नाबालिग और तीन महिलाओं को पकड़ा था। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि इन लोगों ने यहाँ किराए पर बाइक्स लीं और एक-दूसरे से रेस लगाने लगे। इस दौरान उन्होंने एक-दूसरे का नाम देशों के नाम पर रखा, जिनमें पाकिस्तान भी शामिल था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दीपावली पर PFI ने रची थी देश भर में बम ब्लास्ट की साजिश: आसपास के सामान से IED बनाने की दे रहा था ट्रेनिंग,...

PFI आसपास मौजूद सामान से IED बनाने की ट्रेनिंग दो रहा था। उसकी योजना दशहरा पर देश भर में बम विस्फोट और संघ नेताओं की हत्या करने की थी।

ताज महल या तेजो महालय? सुप्रीम कोर्ट में याचिका, कहा- शाहजहाँ ने निर्माण करवाया इसके प्रमाण नहीं, बने फैक्ट फाइंडिंग कमेटी

आगरा के ताज महल (Taj Mahal) का सच क्या है? इसका पता लगाने की अपील करते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर की गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,480FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe