Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाज'वो डरा हुआ था, सिर्फ अब्बा के कारण गया': टाइटेनिक का मलबा देखने गया...

‘वो डरा हुआ था, सिर्फ अब्बा के कारण गया’: टाइटेनिक का मलबा देखने गया ‘टाइटन’, सभी 5 अरबपति सवारों की अटलांटिक महासागर में मौत

कुछ दिन पहले खबर आई थी कि टाइटेनिक देखने अटलांटिक महासागर में घुसी पनडुब्बी वहीं गुम हो गई है। इसमें पाकिस्तान के अरबपति शहजाद दाऊद समेत 5 लोग थे। इन्हें ढूँढने के लिए अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन की नौसेना ने विशेष अभियान चलाया। जिसके बाद शुक्रवार को खबर आई कि पनडुब्बी में बैठे पाँचों लोगों की मौत हो गई है।

टाइटेनिक का मलबा देखने की चाह ने पाकिस्तान के बड़े अरबपति बिजनेसमैन और उनके 19 साल के बेटे की जान ले ली। 48 वर्षीय शहजाद दाऊद और उनके बेटे सुलेमान दाऊद कुछ दिन पहले एक पनडुब्बी में बैठ अटलांटिक महासागर गए थे। पर, अब खबर आई है कि दोनों का उसी पनडुब्बी में इंतकाल हो गया।

शहजाद और सुलेमान की इस तरह मौत की खबर सुनने के बाद दाउद फाउंडेशन ने इस संबध में बयान जारी किया। इसमें कहा गया “बड़े दुख के साथ हम शहजाद और सुलेमान दाऊद के इंतकाल के बारे में आपको बता रहे हैं।” आगे पत्र में टाइटन पनडुब्बी पर सवार अन्य यात्रियों के परिवारों के प्रति तहे दिल से संवेदना व्यक्त की गई।

वहीं शहजाद दाऊद की बहन आजमेह ने इस मामले में खुलासा किया है कि उनका भतीजा इस ट्रिप के लिए तैयार नहीं था। उसे जाने में बहुत डर लग रहा था। लेकिन वो फिर भी इस ट्रिप पर गया क्योंकि ये ट्रिप फादर्स डे वाले वीकेंड पर पड़ रही थी। सुलेमान अपने अब्बा को खुश करना चाहता था जो कि बहुत समय से टाइटेनिक को मलबा देखने को बेताब थे।

आजमेह कहती हैं कि उन्हें शुरुआत में तो यकीन ही नहीं था कि उनका भाई और भतीजा अब इस दुनिया में नहीं हैं। लेकिन जब गुरुवार को ओशनगेट कंपनी ने बताया कि उस पनडुब्बी में बैठा कोई यात्री नहीं बचा तो पूरी तरह टूट गईं। वो कहती है कि भाई और भतीजे के साथ हुई घटना सोच सोचकर उन्हें खुद साँस की दिक्कत बढ़ गई।

शहजाद कराची की एंग्रो कॉर्पोरेशन में उपाध्यक्ष थे। वहीं प्रिंस ट्रस्ट इंटरनेशनल में एडवाइजर थे जिसे किंग्स चार्ल्स III ने स्थापित किया है। बहन आजमेह के अनुसार जब वो लोग पाकिस्तान में थे तब से शहजाद को टाइटैनिक का क्रेज था। वो 1958 में बनी ‘अ नाइट टू रिबेंबर’ देखते थे।

इसके अलावा उन्हें टाइटैनिक की डॉक्यूमेंट्री देखना, म्यूजियम में जाकर उसके मलबे देखना आदि पसंद था। इसलिए जब शहजाद सुलेमान ने टिकट ली तो किसी को हैरानी नहीं हुई।

बता दें कि कुछ दिन पहले खबर आई थी कि टाइटेनिक देखने अटलांटिक महासागर में घुसी पनडुब्बी वहीं गुम हो गई है। इसमें पाकिस्तान के अरबपति शहजाद दाऊद समेत 5 लोग थे। इन्हें ढूँढने के लिए अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन की नौसेना ने विशेष अभियान चलाया। जिसके बाद शुक्रवार को खबर आई कि पनडुब्बी में बैठे पाँचों लोगों की मौत हो गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तेजस्वी यादव के बगल में खड़े इस राजा को देखिए, वहीं के व्यवसायी को सुपारी देकर मरवाया जहाँ से माँ थी RJD उम्मीदवार: हत्या...

बिहार के पूर्णिया में 2 जून, 2024 को हुई एक व्यवसायी गोपाल यादुका की हत्या की सुपारी राजद नेता बीमा भारती के बेटे राजा ने दी थी।

चुनाव ब्रिटेन का और वोट ‘कश्मीर की आजादी’ के नाम पर माँग रहा सत्ताधारी दल का सांसद, हिंदू-भारत घृणा से भरा है चुनावी अभियान

कंजर्वेटिव पार्टी के नेता मार्को लोंगी ने पहले तो बकरीद की शुभकामनाएँ दी, उसके बाद भारत विरोधी आग उगलना शुरू किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -