Monday, August 2, 2021
Homeरिपोर्टगुरु गोबिंद सिंह के सम्मान में PM मोदी ने जारी किया 350 रुपए का...

गुरु गोबिंद सिंह के सम्मान में PM मोदी ने जारी किया 350 रुपए का स्मारक सिक्का

इन स्मारक सिक्कों के बारे में आपको बता दें कि ये किसी खास मौके पर ज़ारी किए जाते हैं। इनके ऊपर उस अवसर से जुड़े दिन का संदर्भ दिया गया होता है

गुरु गोबिंद सिंह की जयन्ती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 350 रुपए का स्मारक सिक्का जारी किया। दिल्ली में चल रहे जयन्ती समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी शिरकत की।

गुरु गोबिंद सिंह सिखों के दसवें गुरु थे, जिनकी जयन्ती पर स्मारक सिक्का जारी हुआ। दिल्ली में सभा को संबोधित करने के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह एक महान योद्धा, दार्शनिक, कवि और गुरु थे। उन्होंने अत्याचार और अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उनकी शिक्षा हमेशा धर्म और जाति की बेड़ियों को तोड़ने के लिए रही। उनके द्वारा दिया गया प्रेम, शांति और त्याग का संदेश आज भी सब में बेहद प्रासंगिक है। गुरु गोबिंद सिंह के प्रति अपना सत्कार अदा करने की दिशा में स्मारक सिक्के को नरेंद्र मोदी ने एक बहुत ही छोटा सा कदम बताया।

इस सिक्के को जारी करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि भारत के पास जो संस्कृति और ज्ञान की विरासत है, उसे विश्व के कोने-कोने तक फैलाए जाने का कार्य किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह का काव्य भारतीय संस्कृति और हम लोगों के जीवन की सरल अभिव्यक्ति है। जिस प्रकार गुरु गोविंद सिंह जी का व्यक्तित्व बहुआयामी था, वैसे ही उनका काव्य भी अनेकों विषयों को अपने में समाए हुए है।

इस बीच प्रधानमंत्री ने करतार पुर बॉर्डर पर भी बात की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के लगातार प्रयासों के बाद करतारपुर कॉरिडोर बनने जा रहा है। अब गुरु नानक जी के रास्ते पर चलने वाला हर भारतीय दूरबीन की मदद से नहीं बल्कि खुद अपनी आँखों से गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन कर पाएगा।

नरेंद्र मोदी ने अगस्त 1947 में हुई चूक का इस कॉरिडोर को प्रायश्चित बताया है। 1947 में बँटवारे के समय ये महत्वपूर्ण स्थल रणनीतिक चूक की वजह से पाकिस्तान के हिस्से में चला गया।

केंद्र सरकार द्वारा कॉरिडोर मामले में किया गया यह काम सिखों और हर भारतीय के ज़रिए सराहा जा रहा है। साल 2017 में 5 जनवरी को पीएम ने 350वीं जयन्ती पर स्मारक के तौर पर डाक टिकट की भी शुरुआत की थी।

इन स्मारक सिक्कों के बारे में आपको बता दें कि ये किसी खास मौके पर ज़ारी किए जाते हैं। इनके ऊपर उस अवसर से जुड़े दिन का संदर्भ दिया गया होता है। ये प्राचीन स्मारक स्थलों, ऐतिहासिक व्यक्तियों, लुप्तप्राय प्रजातियों आदि पर प्रकाश डालते हुए थीम पर आधारित हो सकते हैं।

अभी तक महान भारतीय एक्टर और राजनेता स्वर्गीय एमजी रामचंद्रन की याद में 100 रुपए और 5 रुपए का सिक्का पीएम मोदी द्वारा जारी किया गया है। इसके अलावा कर्नाटक शैली की गायिका एमएस सुब्बालक्ष्मी के सम्मान में 100 रुपए और 10 रुपए का सिक्का भी जारी किया गया था।

भारतीय इतिहास में स्मारत सिक्के चलाने की प्रथा रही है। 1964 में सबसे पहला स्मारक सिक्का प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के सम्मान में जारी किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,544FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe