PM ने किया काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर का शिलान्यास, कहा: ‘काशी की नई पहचान बनने वाली है’

मोदी ने कुदाल चलाकर काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर की नींव रखी। यह कॉरिडोर बाबा विश्वनाथ मंदिर से शुरू होकर गंगा किनारे घाट तक जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वाराणसी के दौरे पर हैं। इस दौरान पीएम ने काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर का शिलान्यास किया। मोदी ने कुदाल चलाकर काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर की नींव रखी। बता दें कि ये कॉरिडोर बाबा विश्वनाथ मंदिर से शुरू होकर गंगा किनारे घाट तक जाएगा। इस कॉरिडोर को लेकर काफी विवाद रहा था, लेकिन इसके बावजूद प्रधानमंत्री ने इस परियोजना को आगे बढ़ाया।

कॉरिडोर का शिलान्यास करने के बाद उन्होंने काशी विश्वनाथ में पूजा अर्चना की। उन्होंने कहा कि अब माँ गंगा को सीधे बाबा भोलेनाथ से जोड़ दिया गया है। अब श्रद्धालु गंगा स्नान करके सीधे भोले बाबा के दर्शन करने आ सकेंगे। ये काशी विश्वनाथ धाम, अब काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर के रूप में जाना जायेगा। इससे काशी की पूरे विश्व में एक अलग पहचान बनेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा, “आज भोले बाबा की मुक्ति का पर्व है। पहले यह स्थान चारों तरफ से घिरा हुआ था। 300 सम्पत्तियों का अधिग्रहण किया गया। कई बार दुश्मन ने ये जगह ध्वस्त की। आस्था ने इस जगह को फिर जीवन दिया। काशी की नई पहचान बनने वाली है। काशी के लोगों ने भी सरकार का साथ दिया।”

चित्र आभार: ANI
- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पिछली सरकारों पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “काशी का काम मेरे नसीब में लिखा था। 70 सालों से पहले की सरकारों ने कुछ नहीं किया।”

चित्र आभार: ANI

इस दौरान मोदी के साथ यूपी के सीए योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाइक भी मौजूद रहे। मोदी ने कहा कि विश्वनाथ धाम एक ऐसी परियोजना है जिसके बारे में वो लंबे समय से सोच रहे थे और सक्रिय राजनीति में आने से पहले ही वो काशी आ गए थे। तब से ही उनके मन में मंदिर परिसर को लेकर कुछ करने की इच्छा थी, जो कि अब भोले बाबा के आशीर्वाद से उनका ये सपना सच हो रहा है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नितिन गडकरी
गडकरी का यह बयान शिवसेना विधायक दल में बगावत की खबरों के बीच आया है। हालॉंकि शिवसेना का कहना है कि एनसीपी और कॉन्ग्रेस के साथ मिलकर सरकार चलाने के लिए उसने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

113,096फैंसलाइक करें
22,561फॉलोवर्सफॉलो करें
119,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: