Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिवामपंथी लोग भारतीय इतिहास, संस्कृति और आध्यात्मिकता का सम्मान नहीं करते: नरेंद्र मोदी

वामपंथी लोग भारतीय इतिहास, संस्कृति और आध्यात्मिकता का सम्मान नहीं करते: नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी ने कहा कि, "केरल के लोग जाग गए हैं। वे भाजपा को अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने वाली पार्टी के रूप में देखते हैं। हम उनके सपनों को पूरा करने और एक मजबूत, समृद्ध और समावेशी भारत का निर्माण करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।"

केरल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबरीमाला मुद्दे को लेकर केरल की मौजूदा LDF (लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट) सरकार को निशाना बनाया। उन्होंने अपने भाषण में सबरीमाला मुद्दे पर LDF सरकार के रवैये को इतिहास में सबसे शर्मनाक व्यवहार बताया। प्रधानमंत्री ने कहा कि UDF और LDF, दोनों एक ही सिक्के के 2 पहलू हैं, ये दोनों नाम में भले ही भिन्न हों लेकिन भ्रष्टाचार, जातिवाद और साम्प्रदायिकता में दोनों एक समान हैं। PM मोदी ने कहा कि दोनों ने ही केरल की सांस्कृतिक छवि को नुकसान पहुँचाया है, साथ ही उन्होंने कहा कि ये दोनों राजनितिक हिंसा में भी समान हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोल्लम में कोल्लम, अलाप्पुझा और मवेलिक्कारा निर्वाचन क्षेत्रों से भाजपा कार्यकर्ताओं की एक सार्वजनिक रैली का उद्घाटन करते हुए कहा, “पिछले कुछ महीनों से पूरा देश सबरीमाला पर चर्चा कर रहा है। हम जानते हैं कि कम्युनिस्ट भारतीय इतिहास, संस्कृति और आध्यात्मिकता का सम्मान नहीं करते हैं। लेकिन किसी को भी इस तरह की नफ़रत की उम्मीद नहीं थी।”

केरल में राष्ट्रीय राजमार्ग-66 पर 13 किलोमीटर लंबे दो लेन वाले कोल्लम बाईपास के उद्घाटन के अवसर पर नरेंद्र मोदी ने जनता को बधाई देते हुए कहा, “हमारे देश में हम अक्सर देखते हैं कि उद्घाटन के बाद कई आधारभूत परियोजनाएँ रूक जाती हैं और बड़ी मात्रा में जनता का पैसा बेकार हो जाता है।”

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने विकास परियेाजनाओं का निरीक्षण किया और सभी विभाग सचिवों तथा राज्य के मुख्य सचिवों के साथ बैठक की। उन्होंने बताया कि केरल के लोगों के साथ वो ‘नमो ऐप’ के ज़रिए भी बात करते रहते हैं और बीते साल केरल में आई बाढ़ के दौरान भी वो वहाँ आए थे, साथ ही कहा कि भाजपा सरकार तब केरल के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलकर खड़ी रही

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कॉन्ग्रेस पर भी हमला बोलते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस के कई चेहरे हैं, उन्होंने कहा, “वह संसद में कुछ कहती है और पथनमथिट्टा (भगवान अय्यप्पा मंदिर स्थल) में कुछ और कहती है।”

आगे उन्होंने कहा कि केरल और उसकी संस्कृति के साथ सबसे आगे कोई पार्टी रही है, तो वह भाजपा है। साथ ही UDF को इस मुद्दे पर अपना पक्ष स्पष्ट रूप से बताने की चुनौती देते हुए उन्होंने कहा कि उनका दोमुँहा व्यवहार खुलकर सामने आ चुका है।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि, “केरल के लोग जाग गए हैं। वे भाजपा को अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने वाली पार्टी के रूप में देखते हैं। हम उनके सपनों को पूरा करने और एक मजबूत, समृद्ध और समावेशी भारत का निर्माण करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -