Thursday, August 5, 2021
Homeरिपोर्टबुलंदशहर हिंसा : तीन गायों को बन्दूक से गोली मारी, फिर चाकू से टुकड़ों...

बुलंदशहर हिंसा : तीन गायों को बन्दूक से गोली मारी, फिर चाकू से टुकड़ों में काटकर आपस में बांटा

पुलिस ने नदीम, रईस और काला नाम के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार इन्ही तीनो ने हिंसा की वारदात से पहले वाली रात को गोकशी की थी और खेत में गोमांस के टुडे फेंके थे।

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी को लेकर हुई हिंसा वाले मामले में एक नया मोड़ आया है। आज पुलिस ने नदीम, रईस और काला नाम के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार इन्ही तीनो ने हिंसा की वारदात से पहले वाली रात को गोकशी की थी और खेत में गोमांस के टुडे फेंके थे। ज्ञात हो कि इस हिंसा में सुमित नाम के एक युवक की जान चली गई थी और इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की भी मौके पर ही मौत हो गई थी। बता दें कि अब तक इस मामले में कुल बी लोगों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर के जेल भेजा जा चुका है। ताजा गिरफ्तारियों के साथ ही पुलिस ने इस केस को सुलझा लेने का दावा भी किया है।

पुलिस के अनुसार उन्होंने गुप्त सूचना के आधार पर तीनो आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपियों के पास से एक मारूति जिप्सी, कुल्हाड़ी, चाकू और लाइसेंसी बंदूक बरामद किया। पुलिस का दावा है कि हिंसा भड़काने के लिए हुई गोकशी में इन्ही चीजों का प्रयोग किया गाया था। बुलंदशहर के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने कहा;

“गोकशी के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। चौथा आरोपित हारून अभी फरार है। इस घटना के जो सात वास्तविक आरोपित हैं, अभी तक उनके खिलाफ कोई भी सबूत पुलिस को नहीं मिला है। जांच के बाद इन सभी आरोपियों के नाम बताए जाएंगे।”

बजरंग दल के कार्यकर्ता योगेश राज के द्वारा दर्ज कराइ गई शिकायत पर पुलिस ने गोकशी के आरोप में ये गिरफ्तारियां की है।

पुलिस ने कहा कि सबसे पहले तीन गायों को बंदूक से गोली मारी गई। इसके बाद उन्हें चाकू से टुकड़ों में काटा गया और इन सभी आरोपितों ने आपस में उन टुकड़ों को बाँट लिया।

विदित हो कि कि स्याना के चिंगरावठी चौकी क्षेत्र के महाव के जंगल मेंं कथित गोमांश मिलने के बाद मेंं हिंसा भड़क गई थी। गुस्साई भीड़ ने चौकी को आग के हवाले कर दिया था। साथ ही वाहनों में आग लगा दी थी। इस घटना में स्याना कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की जान चली गई थी। वहीं गोली लगने से एक युवक सुमित कुमार की जान चली गई थी। उस दौरान पुलिस को मौके से मांस मिला था।

उधर मृत सुमित के परिजन भी आज योगी आदित्यनाथ से मिले। उनकी मुलाक़ात मुख्यमंत्री के कार्यालय लोकभवन में करीब एक घंटे तक चली। दैनिक जागरण में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार इस मुलाकात के बाद के बाद सुमित की मां व बहन ने कहा कि हमको मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्याय का भरोसा दिलाया है। हमको उनकी बात पर पूरा भरोसा है। इसके साथ ही सीएम ने हमारे परिवार को हर प्रकार की मदद भी देने की बात कही है। हमने सीएम योगी आदित्यनाथ से सुमित को शहीद का दर्जा देने के साथ ही इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की तरह ही आर्थिक मदद की मांग रखी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आप के साथ अन्याय नहीं होगा। इसके साथ ही सीएम ने हमारे परिवार को हर प्रकार की मदद भी देने की बात कही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस श्रीजेश ‘The Wall’ के दम पर हॉकी में मिला ब्रॉन्ज मेडल… शिवसैनिकों ने उन्हें पाकिस्तानी समझ धमकाया था

टीम इंडिया के खिलाड़ी श्रीजेश ने शिव सैनिकों को कहा, "यार अपने इंडिया के प्लेयर को तो पहचानते नहीं हो पाकिस्तानी प्लेयर्स को कैसे पहचानोगे।''

दाँत काट घायल किया… दर्द से कराहते रवि कुमार दहिया ने फिर भी फाइनल में बनाई जगह – देखें वीडियो

टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में रवि कुमार दहिया और रूस के जौर रिजवानोविच उगवे के बीच मुकाबला होगा। गोल्ड मेडल के लिए...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,075FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe