Tuesday, August 9, 2022
Homeराजनीति'कॉन्ग्रेस-BJP मिले हुए हैं जी!' - गिड़गिड़ाने के बाद भी कॉन्ग्रेस से गठबंधन न...

‘कॉन्ग्रेस-BJP मिले हुए हैं जी!’ – गिड़गिड़ाने के बाद भी कॉन्ग्रेस से गठबंधन न होने पर केजरीवाल

कॉन्ग्रेस का केंद्रीय नेतृत्व इस गठबंधन के लिए तैयार था, लेकिन पार्टी की दिल्ली यूनिट इसके पक्ष में नहीं थी। यही वजह है कि राहुल गाँधी को बीच में आना पड़ा और बैठक करनी पड़ी।

कॉन्ग्रेस की ओर से गठबंधन को न कहने पर भड़के केजरीवाल ने कहा, “जिस समय पूरा देश मोदी-शाह की जोड़ी को हटाने में लगा है, कॉन्ग्रेस बीजेपी की मदद कर रही है। दिल्ली कॉन्ग्रेस-बीजेपी गठबंधन के खिलाफ लड़ाई के लिए तैयार है।”

कॉन्ग्रेस से गठबंधन के लिए गिड़गिड़ाने और भाजपा को हराने के लिए किसी भी हद तक जाने का दावा करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की उम्मीदों को एक बार फिर झटका लगा है। आजकल लगातार ख़बरें आ रही थीं कि कॉन्ग्रेस ने आम आदमी पार्टी के साथ तालमेल करने का निर्णय ले लिया है और दिल्ली में लोकसभा की 7 सीटों में से 3-3 सीटों पर दोनों पार्टी अपने उम्मीदवार उतारेगी। लेकिन शीला दीक्षित ने इन ख़बरों का खंडन करते हुए कहा है कि कॉन्ग्रेस आम आदमी पार्टी से कोई गठबंधन करने को तैयार नहीं है।

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित ने आम आदमी पार्टी के साथ किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार कर दिया है। उन्होंने यह बात कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी से मिलने के बाद कही है। दरअसल, राहुल गाँधी ने मंगलवार को कॉन्ग्रेस की दिल्ली यूनिट के नेताओं के साथ गठबंधन पर चर्चा के लिए बैठक बुलाई थी। दोपहर 12 बजे से इनके घर एक बैठक होनी थी। माना जा रहा है कि कॉन्ग्रेस का केंद्रीय नेतृत्व इस गठबंधन के लिए तैयार था, लेकिन पार्टी की दिल्ली यूनिट इसके पक्ष में नहीं थी। यही वजह है कि राहुल गाँधी को बीच में आना पड़ा।

गठबंधन की उम्मीद लगाए AAP का कॉन्ग्रेस से गठबंधन की अफवाहों की पुष्टि इस बात से भी होती दिखी है, क्योंकि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों में से अब तक 6 पर ही अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया था। लेकिन ऐसा लग रहा है कि अरविन्द केजरीवाल का इंतजार अब इंतजार ही रहने वाला है। कॉन्ग्रेस के दिल्ली यूनिट के नेता पहले से ही AAP से गठबंधन के पक्ष में नहीं थे। इससे पहले खबर थी कि AAP ने कॉन्ग्रेस को गठबंधन के लिए फॉर्मूला सुझाया था, फॉर्मूला के तहत AAP चाहती थी कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी 6 सीटों पर लड़े और कॉन्ग्रेस सिर्फ 1 पर।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लालू-नीतीश से ऊब चुके बिहार में कौन होगा BJP का देवेंद्र फड़नवीस? कीचड़ में कमल खिलाने वाला चाहिए, लेकिन पार्टी के अधिकतर नेता अपने...

बिहार भाजपा के अधिकतर बड़े नेताओं का अपने जिले से बाहर कोई जनाधार नहीं है। ऐसे में देवेंद्र फड़नवीस वाला कार्य कौन कर सकता है? तेजस्वी बनाम कौन?

‘वो इस्लाम बैन करें, तुम 16 बुतों का घर बनाओ’: दुबई में हिंदू मंदिर देख भड़के कट्टरपंथी, तस्वीर शेयर करने वाले को कहा- काफिर,...

दुबई के जेबल अली में हिंदू मंदिर बन रहा है। सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीरें वायरल हैं। हिंदू इसके लिए आभार जता रहे हैं। वहीं कट्टरंपथी नाराज हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,498FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe