Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजपश्चिम बंगाल में TMC विधायक की गोली मारकर हत्या

पश्चिम बंगाल में TMC विधायक की गोली मारकर हत्या

टीएमसी विधायक की हत्या ने ममता सरकार की क़ानून-व्यवस्था की पोल खोल दी है, साथ ही इस बात पर सोचने को भी मजबूर कर दिया है कि जब विधायक स्तर के शख़्स की इस प्रकार सरेआम हत्या हो सकती है तो आम जनजीवन कैसे सुरक्षित रह सकता है?

पश्चिम बंगाल में क़ानून-व्यवस्था किस तरह से ममता सरकार में ध्वस्त है, इसका अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्हीं के विधायक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दरअसल, तृणमूल कॉन्ग्रेस के विधायक सत्यजीत बिश्वास अपने विधानसभा क्षेत्र कृष्णागुंज में अपनी पत्नी और 7 महीने के बेटे के साथ सरस्वती पूजन के लिए गए हुए थे।

बिश्वास जब कार्यक्रम के दौरान मंच से उतर रहे थे तभी कुछ हमलावरों ने क़रीब 100 लोगों की मौज़ूदगी में उनपर गोली चला कर हत्या कर दी। टीएमसी विधायक की हत्या ने ममता सरकार के क़ानून-व्यवस्था की पोल तो खोली ही है, साथ ही इस बात पर सोचने को मजबूर कर दिया है कि जब विधायक स्तर के शख़्स की इस प्रकार सरेआम हत्या हो सकती है तो आम जनजीवन कैसे सुरक्षित रह सकता है?

कॉन्ग्रेस द्वारा घटना का राजनीतिकरण

घटना के बाद टीएमसी ने अपने ही विधायक की हत्या का राजनीतिकरण करते हुए बीजेपी पर हत्या का आरोप लगा दिया। टीएमसी के महासचिव पार्थो चटर्जी ने कहा कि इस हमले के पीछे बीजेपी के हाथ है।

वहीं पूरे मामले पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि विधायक पर हमला, टीएमसी के भीतरी कलेश को दर्शाता है। इससे स्पष्ट होता है कि किस तरह आपसी गुटों में झगड़ा चल रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

एक का छत से लटका मिला शव, दूसरे की तालाब से मिली लाश: बंगाल में फिर भाजपा के 2 कार्यकर्ताओं की हत्या

एक मामला बीरभूम का है और दूसरा मेदिनीपुर का। भाजपा का कहना है कि टीएमसी समर्थित गुंडों ने उनके कार्यकर्ताओं की हत्या की जबकि टीएमसी इन आरोपों से किनारा कर रही है।

मुख्तार अंसारी की बीवी और उसके सालों की ₹2 करोड़ 18 लाख की संपत्ति जब्त: योगी सरकार ने गैंगस्टर एक्ट के तहत की कार्रवाई

योगी सरकार द्वारा कुख्यात माफिया और अपराधी मुख्तार अंसारी की लगभग 2 करोड़ 18 लाख रुपए मूल्य की संपत्ति की कुर्की की गई। यह संपत्ति अंसारी की बीवी और उसके सालों के नाम पर थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,842FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe