Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजदिल्ली ट्रिपल मर्डर: 3 गायब मोबाइल और 2 ग्लास शराब से खुलेंगे राज़, खुशबू...

दिल्ली ट्रिपल मर्डर: 3 गायब मोबाइल और 2 ग्लास शराब से खुलेंगे राज़, खुशबू का परिचित था हत्यारा?

बुजुर्ग दम्पति अपना फ्लैट अपने भतीजे को देना चाहते थे, जिससे उनकी बेटी नाराज़ थी। इसके बाद दम्पति के भतीजे और बेटी-दामाद के बीच बहस भी हुई थी। इसीलिए पुलिस प्रॉपर्टी विवाद के एंगल से भी जाँच कर रही है।

दिल्ली ट्रिपल मर्डर मामले में नया मोड़ आया है। पुलिस ने मृत नर्स खुशबू के एक क़रीबी को हिरासत में लिया है। बता दें कि कल रविवार (जून 24, 2019) को वसंत विहार के एक फ्लैट में एक बुज़ुर्ग दम्पति की हत्या कर दी गई थी। उन दोनों के साथ उस घर में काम करने वाली नर्स की भी हत्या कर दी गई। जब घर का कामकाज करने वाली सहायिका वहाँ पहुँची तो उसने देखा कि तीनों की लाश पड़ी हुई है। पुलिस को शक है कि कातिल कोई क़रीबी व्यक्ति ही है। ट्रिपल मर्डर को लूटपाट का रूप देने के लिए हत्यारों ने सामान भी इधर-उधर बिखेर दिए थे ताकि पुलिस को गुमराह किया जा सके और जाँच सही एंगल से न हो।

पुलिस ने जिस व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है, उसका नाम नित्यम है। पूछताछ में वह पुलिस को लगातार गुमराह कर रहा है। नर्स खुशबू नौटियाल से उसके क़रीबी सम्बन्ध थे। मृत बुजुर्ग माथुर दम्पति की एक बेटी भी है, जो ग्रेटर कैलाश में रहती हैं और समय मिलते ही अपने माता-पिता की सेवा करने के लिए पहुँच जाती थीं। उन्होंने बताया कि घर में से कोई भी सामान चोरी नहीं हुई है। बुजुर्ग दम्पति सरकारी कर्मचारी थे और एनडीएमसी में कार्यरत थे। दोनों ही काफ़ी दिनों पहले रिटायर हो चुके थे। उनकी बेटी भी एनडीएमसी में ही कार्यरत हैं।

हालाँकि, पुलिस ने इस मामले में नित्यम के किरदार को लेकर तो अभी कुछ नहीं कहा है लेकिन इतनी जानकारी ज़रूर मिली है कि वारदात के दिन उसका फोन रात 8.30 बजे स्विच ऑफ हो गया था। बुजुर्ग दम्पति का फोन रात के 1.30 बजे ऑफ हुआ और सबसे बड़ी बात यह है कि इसके ठीक 20 मिनट बाद खुशबू का मोबाइल फोन भी ऑफ हो गया। यही वो वक़्त था, जिसके आसपास तीनों की हत्या हुई। हत्या के बाद तीनों मृतकों के फोन चोरी कर लिए गए। पुलिस का मानना है कि इसे चोरी व लूटपाट के वारदात का रूप देने के लिए फोन चोरी किए गए।

वहाँ से पुलिस को 2 चाय के कप मिले हैं। उनकी फॉरेंसिक जाँच के बाद पुलिस इस बात का पता लगाएगी कि उस पर किसके होठों के निशान हैं। उन कपों के ऊपर किसकी उँगलियों के निशान हैं, इसका भी पता लगया जाएगा। घर में जाँच के दौरान स्टील के 2 ग्लास मिले हैं, जिनमें थोड़ी मात्रा में शराब भरी हुई थी। वहाँ एक सिगरेट का पैकेट भी था, जिसमें बिना जली हुई सिगरेट पड़ी हुई थी। इसके अलावा एक जली हुई बीड़ी भी मिली है। ये मर्डर बड़ी प्लानिंग के साथ किया गया है, मृतकों के फोन तक नहीं छोड़े गए। घर की दीवारों पर कहीं भी ख़ून के छीटें तक नहीं मिले हैं। खुशबू की हत्या करने के लिए उस पर सबसे ज्यादा वार किए गए।

तीनों फोन का सीडीआर खंगालने के बाद पुलिस को पता चलेगा कि ये लोग किन-किन लोगों के संपर्क में थे। इसका अलावा इलाक़े की सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही है। कातिल ने वारदात को अंजाम देने के बाद घर के दरवाज़े पर बाहर से कुण्डी लगा दी थी। जागरण में प्रकाशित ख़बर के अनुसार, बुजुर्ग दम्पति अपना फ्लैट अपने भतीजे को देना चाहते थे, जिससे उनकी बेटी नाराज़ थी। इसके बाद दम्पति के भतीजे और बेटी-दामाद के बीच बहस भी हुई थी। इसीलिए पुलिस प्रॉपर्टी विवाद के एंगल से भी जाँच कर रही है। अब तक 8 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है।

दैनिक जागरण के दिल्ली संस्करण में छपी ख़बर

बुजुर्ग दम्पति रोज़ साढ़े 8.30 से 9 बजे के बीच अपनी बेटी से वीडियो कॉल पर बात करते थे। इस कार्य में खुशबू उनकी सहायता करती थी। पुलिस को शक है कि कहीं खुशबू ने ही तो अपने किसी परिचित को नहीं बुलाया था? पुलिस की थ्योरी के अनुसार, हो सकता है कि दोनों में विवाद हुआ हो और हत्यारे ने खुशबू की हत्या करने के बाद ख़ुद के बचने के लिए बुजुर्ग दम्पति की भी हत्या कर दी हो। घर में कामकाज करने वाली नौकरानी बबली से भी पूछताछ की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमित शाह के मंत्रालय ने कहा- हिंदू धर्म को खतरा काल्पनिक’: कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता को RTI एक्टिविस्ट बता TOI ने किया गुमराह

TOI ने एक खबर चलाई, जिसका शीर्षक था - 'RTI: हिन्दू धर्म को खतरा 'काल्पनिक' है - केंद्रीय गृह मंत्रालय' ने कहा'। जानिए इसकी सच्चाई क्या है।

NDTV से रवीश कुमार का इस्तीफा, जहाँ जा रहे… वहाँ चलेगा फॉर्च्यून कड़ुआ तेल का विज्ञापन

रवीश कुमार NDTV से इस्तीफा दे चुके हैं। सोर्स बता रहे हैं कि देने वाले हैं। मैं मीडिया में हूँ, मुझे सोर्स से भी ज्यादा भीतर तक की खबर है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,490FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe