₹1850 में दिल्ली से वाराणसी: 15 फरवरी से ‘वन्दे भारत एक्सप्रेस’ आपकी सेवा में

वन्दे भारत एक्सप्रेस एक लक्ज़री ट्रेन है। इसमें यात्रा के दौरान वाई-फाई, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली, स्पर्श मुक्त जैव शौचालय और उपस्थित यात्रियों तथा मौसम के अनुसार तापमान को कम ज्यादा करने में सक्षम मौसम नियंत्रण प्रणाली जैसी सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी।

भारत की पहली नई दिल्ली से वाराणसी के बीच सेमी हाई स्पीड ट्रेन “वन्दे भारत एक्सप्रेस” लॉन्चिंग के लिए तैयार है। इस ट्रेन की आने जाने की दरों में मामूली अंतर है। दिल्ली से वाराणसी तक की सेमी हाई स्पीड ट्रेन “वन्दे भारत एक्सप्रेस” के एयर कंडीशन चेयरकार की टिकेट 1850 रुपए और एग्जीक्यूटिव क्लास की टिकेट 3520 रुपए रिर्धारित की गई है, जिसमें कैटरिंग चार्ज भी शामिल है।

वापसी में वाराणसी से दिल्ली आते वक़्त चेयर कार की दर 1795 रुपए और एग्जीक्यूटिव क्लास का टिकेट 3470 रुपए तय की गई है। सेमी हाई स्पीड ट्रेन का किराया शताब्दी से थोड़ा ही ज़्यादा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 फ़रवरी को इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाएँगे।

चेयरकार और एग्जीक्यूटिव क्लास में सुबह का चाय, नाश्ता और लंच की दर दोनों श्रेणियों के लिए अलग-अलग है। दिल्ली से वाराणसी की यात्रा में एग्जीक्यूटिव क्लास के लिए यह 399 रुपए है जबकि चेयर कार के लिए यह 344 रुपए। वाराणसी से नई दिल्ली की यात्रा में यह दर घट कर 349 रुपए और 288 रुपए ही है। कम दूरी की यात्रा जैसे नई दिल्ली से कानपुर और प्रयागराज तक के लिए यह दर क्रमशः 155 रुपए और 122 रुपए है। उपरोक्त सभी दरें किराए में शामिल हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ज्ञात हो कि वन्दे भारत एक्सप्रेस के निर्माण में करीब सौ करोड़ रुपये खर्च हुए हैं और इसे महज डेढ़ साल में ही तैयार कर लिया गया है। पिछले दिनों दिल्ली-प्रयागराज रूट पर इसका ट्रायल रन सफल रहा। याद हो कि इसी महीने इसका दिल्ली-आगरा रूट पर भी ट्रायल रन किया गया था जिस दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने पत्थर फेंक कर इसे नुकसान पहुँचाया था और खिड़कियाँ तोड़ दी थी।

ट्रेन 18 अर्थात वन्दे भारत एक्सप्रेस एक लक्ज़री ट्रेन है जिसमे यात्रा के दौरान वाई-फाई, जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली, स्पर्श मुक्त जैव शौचालय, एलईडी लाइट, मोबाइल चार्जिंग प्‍वाइंट और उपस्थित यात्रियों तथा मौसम के अनुसार तापमान को कम ज्यादा करने में सक्षम मौसम नियंत्रण प्रणाली जैसी सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी। इस ट्रेन के बीच में दो एक्जिक्यूटिव कंपार्टमेंट भी होंगे, प्रत्येक में 52 सीट होंगी, वहीं सामान्य कोच में 78 सीटें होंगी। पहले इस ट्रेन का नाम ट्रेन 18 रखा गया था क्योंकि इसे रेलवे ने 2018 में लॉन्च किया था। अब इसे वन्दे भारत एक्सप्रेस नाम दिया गया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: