Sunday, August 1, 2021
Homeसोशल ट्रेंडपाकिस्तान में ब्लैकआउट: सर्जिकल स्ट्राइक, इमरान खान के अलावा लोग केजरीवाल को क्यों कर...

पाकिस्तान में ब्लैकआउट: सर्जिकल स्ट्राइक, इमरान खान के अलावा लोग केजरीवाल को क्यों कर रहे याद?

"इस पर न तो कुछ कहा जा सकता है और न ही इसकी व्याख्या की जा सकती है। इसे केवल महसूस किया जा सकता है, वह भी सिर्फ ‘पाकिस्तानी एयर फ़ोर्स द्वारा’।"

शनिवार (9 जनवरी 2021) की देर रात हमारे पड़ोसी मुल्क के तमाम शहरों में अँधेरा छा गया। देर रात अचानक कराची, लाहौर, रावलपिंडी, इस्लामाबाद और मुल्तान जैसे कई बड़े पाकिस्तानी शहरों में लाईट गुल हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स में इस ब्लैकआउट की मुख्य वजह पावर वितरण प्रणाली में गड़बड़ी बताई जा रही है। खैर वजह कुछ भी हो, इंटरनेट की एक बड़ी आबादी अब वजह के पीछे नहीं भागती है बल्कि मीम बनाने लगती है।

इसी कड़ी में नेटिज़न्स ने पाकिस्तान के घुप्प अँधेरे में डूब जाने पर खूब मीम ‘क्रिएट’ किया। जनता इतनी रचनात्मक हो गई कि ब्लैकआउट और सर्जिकल स्ट्राइक के बीच समानताएँ खोजने लगी। जिसमें कुछ मीम या कुछ रिएक्शन ऐसे थे, जिन पर हर सूरत में गौर किया जाना चाहिए। 

एक व्यक्ति ने लिखा, “ब्लैकआउट भी एक तरह की सर्जिकल स्ट्राइक है। क्या आप मोदी जी का मास्टरस्ट्रोक देख सकते हैं? कैसे देख पाएँगे। वहाँ पहले से ही अँधेरा है।

एक ट्विटर यूज़र ने तो सीधे लिख दिया कि भारत के लिए बिलकुल सही समय है एक और सर्जिकल स्ट्राइक करने का। पाकिस्तान में पूरी तरह ब्लैकआउट है। 

एक ट्विटर यूज़र ने लिखा, “पावर फेलियर होने पर ‘पाक सार’ ज़मीन की भोली जनता इस चिंता में पड़ जाती है कि कहीं भारत ने हमला तो नहीं कर दिया। इसका कारण एक ही है, ‘सर्जिकल स्ट्राइक’। हमने भले कौवा भी न मारा हो लेकिन जनता (पाकिस्तान की) तक संदेश पहुँच गया है।” 

इसी ट्वीट के अगले हिस्से में लिखा गया है कि जिन्हें ऐसा लगता है कि सर्जिकल स्ट्राइक सफल नहीं हुई थी, उन्हें वाकई कुछ नहीं पता है।

एक यूज़र ने लिखा, “इम्मू मियाँ अपने ही पोर्किस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक करने के लिए निकल पड़े। ब्लैकआउट में मिले अवसर” 

एक यूज़र ने बताया कि ब्लैकआउट होने के बाद पाकिस्तानी सेना सर्जिकल स्ट्राइक के डर से अलर्ट हो चुकी है। 

एक यूज़र ने तो भारत के एक नेता (केजरीवाल) को ब्लैकआउट की दिक्कत सही करने के लिए पाकिस्तान भेज दिया। 

इस ट्वीट पर कुछ कहा नहीं जा सकता है और न ही इसकी व्याख्या की जा सकती है। इसे केवल महसूस किया जा सकता है, वह भी सिर्फ ‘पाकिस्तानी एयर फ़ोर्स द्वारा’।   

इसी बीच पाकिस्तान से एक और बड़ी ख़बर सामने आई है, अफ़सोस की बात ये है कि उस ख़बर में भी पाकिस्तान का हासिल फजीहत ही है। यह ख़बर पाकिस्तान पर की गई भारत की कार्रवाई का पुख्ता सबूत भी है।

पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक आगा हिलाली ने एक टीवी शो में स्वीकार किया है कि 26 फरवरी 2019 को बालाकोट पर भारत द्वारा की गई एयर स्ट्राइक में 300 आतंकी मारे गए थे। ये पूर्व राजनयिक टीवी चर्चाओं में नियमित रूप से पाकिस्तानी सेना का पक्ष रखते हैं। यह इमरान खान के दावे से बिलकुल विपरीत है, जिसमें उनका कहना था कि एयर स्ट्राइक में किसी की मृत्यु नहीं हुई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,514FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe