Wednesday, April 17, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'शर्म करो पाकिस्तान, सीखो भारत से कुछ सीखो' - Pak छात्रों ने खुलेआम इमरान...

‘शर्म करो पाकिस्तान, सीखो भारत से कुछ सीखो’ – Pak छात्रों ने खुलेआम इमरान सरकार को क्यों कोसा?

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के अलावा वहाँ के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी भी सरकार के निर्णय पर कुरान और पैगंबर मोहम्मद का उदाहरण देते हुए उसे सही ठहराते हैं।

चीन में फैले घातक कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 304 हो गई है और इससे 14,380 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। ऐसे में भारत की सरकार अपने लोगों को चीन से बाहर निकाल रही है। लेकिन, पाकिस्तान ने चीन में रहने वाले अपने छात्रों से मुँह मोड़ रखा है। कोरोना वायरस के कारण चीन के वुहान में कई पाकिस्तानी छात्र फँसे हुए हैं, लेकिन पाक की इमरान सरकार ने उन्हें वापस नहीं लाने का फैसला किया है।

पाकिस्तान सरकार की अनदेखी से ये छात्र किस कदर बेबस हैं, इसका अंदाजा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक विडियो से समझा जा सकता है। इस विडियो में भारतीय छात्र अपनी घर-वापसी के लिए बस में बैठते दिख रहे हैं जिसे अपने फोन में रिकॉर्ड कर रहा होता है एक पाकिस्तानी छात्र और साथ ही अपनी सरकार को कोसता भी रहता है।

पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने यह विडियो शेयर किया है, जिसमें एक छात्र अपनी सरकार को शर्म करने के लिए कहते हुए सुनाई पड़ रहा है। वीडियो में एक छात्र खुद को पाकिस्तानी छात्र बताते हुए कहता है, “ये भारतीय छात्र हैं और ये बस इन्हें लेने आई है, जो इनके दूतावास ने भेजी है। वुहान की यूनिवर्सिटी से इस बस से इन छात्रों को एयरपोर्ट ले जाया जाएगा और वहाँ से फिर इन्हें इनके घर पहुँचाया जाएगा। बांग्लादेश वाले भी आज रात यहाँ से ले जाए जाएँगे। एक हम पाकिस्तानी हैं, जो यहाँ पर फँसे हैं। जिनकी सरकार कहती है कि आप मरो या जियो, हम आपको नहीं निकालेंगे। शेम ऑन यू पाकिस्तान, सीखो भारत से कुछ सीखो।”

इसके अलावा एक अन्य वीडियो में तीन पाकिस्तानी छात्र बैठे हैं, जिन्हें पाकिस्तानी सरकार से अब कोई उम्मीद नहीं बची है और वह अब अपनी आर्मी से मदद की गुहार लगा रहे हैं। वीडियो में एक छात्र ने कहा, “कभी तो लगता है कि हम लावारिस है, हमारे पीछे कोई मुल्क ही नहीं है। चार दिनों से सरकार से अपील कर रहे हैं, लेकिन इन्होंने मना कर दिया। आर्मी से हमें उम्मीद है, हम पाकिस्तानी आर्मी से अपील करते हैं प्लीज हमें जल्द से जल्द यहाँ से निकाला जाए।”

बता दें कि कोरोना वायरस के कहर से जूझ रहे चीन के वुहान में फँसे भारतीय लोगों को एयर इंडिया की दो फ्लाइट वहाँ से एयरलिफ्ट किया गया है, वहीं पाकिस्तान सरकार ने वायरस के खतरे के डर से उन्हें चीन से निकालने से मना कर दिया है। द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून ने नेशनल हेल्‍थ सर्विस पर पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक जफर मिर्जा के हवाले से बताया है कि सरकार अपने नागरिकों को चीन के वुहान शहर से नहीं निकालेगी। तीन छात्रों वाले इस वीडियो में भी छात्रों जफर मिर्जा के बयान का हवाला दिया है।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के अलावा वहाँ के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी भी सरकार के निर्णय पर कुरान और पैगंबर मोहम्मद का उदाहरण देते हुए उसे सही ठहराते हैं।

चीन दफनाने की जगह क्यों जलाएगा Corona Virus से मरने वालों को?

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोहिंग्या मुस्लिमों ने 1600 हिन्दुओं को बंधक बनाया: रिपोर्ट में खुलासा- म्यांमार की फ़ौज ही दे रही हथियार और प्रशिक्षण, 2017 में भी हुआ...

म्यांमार की फ़ौज ने 'आराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (ARSA)' और 'आराकान रोहिंग्या आर्मी (ARA)' को 'आराकान आर्मी (AA)' के खिलाफ लड़ने के लिए हथियार से लेकर सैन्य प्रशिक्षण तक दिया है।

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe