Thursday, June 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंडतेज प्रताप यादव ने दी 'मातम' की शुभकामनाएँ, कॉन्ग्रेस के अधीर रंजन भी मुहर्रम...

तेज प्रताप यादव ने दी ‘मातम’ की शुभकामनाएँ, कॉन्ग्रेस के अधीर रंजन भी मुहर्रम की मुबारकबाद देकर हुए ट्रोल: देखें वीडियो

यह पहला मौका नहीं है जब तेज प्रताप यादव अपने बयान के कारण मुश्किलों में फँसे हैं। इससे पहले भी वो कई उल्टे-सीधे बयान देते रहे हैं।

बिहार में जारी राजनीतिक उठापठक जारी है। इस बीच तेज प्रताप यादव मुहर्रम पर अपनी एक हरकत के कारण सुर्ख़ियों में हैं। दरअसल, उन्होंने मातम वाले पर्व मुहर्रम के मौके पर मुस्लिमों को मुहर्रम की शुभकामनाएँ दी है। वहीं अक्सर अपने बयानों से सुर्ख़ियों में रहने वाले वाले कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद अधीर रंजन चौधरी ने भी मुहर्रम की बधाई देकर एक और गलती कर दी है।

हालाँकि, गलती करने के बाद जब जहाँ कॉन्ग्रेस नेता ने पोस्ट डिलीट कर दी, वहीं लालू के पुत्र तेजस्वी का मुहर्रम पर दी गई शुभकामना वायरल हो रही है।

बता दें कि डिलीट करने के बाद भी अधीर रंजन की मुहर्रम पर मुबारकबाद देती पोस्ट वायरल है। क्योंकि उनकी पोस्ट का स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। लोग कॉन्ग्रेस नेता को ट्रोल कर रहे हैं।

ANI की रिपोर्ट के अनुसार, आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने भी मीडिया से बातचीत के दौरान मुहर्रम की बधाई दी है। न्यूज एजेंसी ANI ने उसका वीडियो भी जारी किया है।

वीडियो में तेज प्रताप यादव ने कहा, “मैं पूरे देश भर में मुहर्रम पर अपने सभी मुस्लिम भाइयों को बधाई देता हूँ। ढेर सारी शुभकामनाएँ।”

हालाँकि, यह पहला मौका नहीं है जब तेज प्रताप यादव अपने बयान के कारण मुश्किलों में फँसे हैं। इससे पहले भी वो कई उल्टे-सीधे बयान देते रहे हैं। फिलहाल, लोग तेज प्रताप यादव के मुहर्रम पर दिए गए बयान को लेकर उनकी आलोचना कर रहे हैं।

गौरतलब है कि मुहर्रम शोक मनाने का 10वाँ दिन होता है। ऐसे मौके पर बधाई देना वर्जित है। मुहर्रम को रोज ए आशूरा के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि मुहर्रम इस्लामी हिजरी वर्ष का पहला महीना होता है। हिजरी वर्ष का आरंभ इसी महीने से होता है। इस माह को इस्लाम के चार पवित्र महीनों में शुमार किया जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -