Thursday, September 23, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'जेंडर जिहाद' एक्टिविस्ट ने कायदे-ए-आजम के स्मारक के सामने दिया 'बोल्ड ड्रेस' में पोज:...

‘जेंडर जिहाद’ एक्टिविस्ट ने कायदे-ए-आजम के स्मारक के सामने दिया ‘बोल्ड ड्रेस’ में पोज: पाकिस्तानी आवाम ने की गिरफ्तारी की माँग

इन फोटो का पाकिस्तानी सोशल मीडिया पर गहरा असर पड़ा और लोगों ने दोनों मॉडल्स पर कार्रवाई करने की माँग की। सोशल मीडिया पर #ArrestTheCouple भी ट्रेंड करता रहा और कार्रवाई की माँग करने वालों में आम नागरिकों के अलावा पत्रकार और नेता भी शामिल रहे।

पाकिस्तानी सोशल मीडिया में 02 अगस्त 2021 को बवाल खड़ा हो गया जब पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना के स्मारक के सामने ‘बोल्ड ड्रेस‘ पहने हुए एक जोड़े (couple) के कुछ फोटो वायरल हुईं। हालाँकि पाकिस्तानी आवाम इन तस्वीरों से आहत दिखी और फोटो में दिखाई दे रहे मॉडल्स की गिरफ्तारी की माँग भी की गई।

इस फोटो को एएनआई की स्मिता प्रकाश द्वारा ट्विटर पर शेयर किया गया और उन्होंने यह भी आशा व्यक्त की कि इस जोड़े को प्रताड़ित नहीं किया जाएगा।

ये फोटो इमान महसूद द्वारा क्लिक की गई हैं और जोड़े ने जो ड्रेस पहनी थी उसे राजा वासे ने डिजाइन किया था। सोशल मीडिया पर इन फोटो को लेकर विवाद होने के बाद मिस्टिकल शायरी और इमान ने अपने एकाउंट्स डिलीट कर दिए हैं जबकि वासे ने अपना एकाउंट प्राइवेट कर दिया। मिस्टिकल शायरी के इंस्टाग्राम बायो के अनुसार वो ‘जेंडर जिहाद’ का हिस्सा हैं। उनके द्वारा डिलीट पोस्ट में लिखा गया है कि यह पाकिस्तानी पितृसत्ता को दिया गया जवाब है। पोस्ट में लिखा गया है, “अल्लाह हमारे साथ है और हमें मरना स्वीकार है लेकिन हम मानव अधिकारों और लैंगिक समानता के लिए लड़ना बंद नहीं करेंगे।”

डिलीट किया गया पोस्ट (फोटो : ट्विटर/ahsanah37240024)

इन फोटो का पाकिस्तानी सोशल मीडिया पर गहरा असर पड़ा और लोगों ने दोनों मॉडल्स पर कार्रवाई करने की माँग की। सोशल मीडिया पर #ArrestTheCouple भी ट्रेंड करता रहा और कार्रवाई की माँग करने वालों में आम नागरिकों के अलावा पत्रकार और नेता भी शामिल रहे।

इस्लामाबाद के डेप्युटी कमिश्नर ने भी दोनों मॉडल्स की जानकारी माँगी है लेकिन फ़िलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि क्या उस जोड़े पर कोई कार्रवाई की गई है या नहीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe