Monday, July 4, 2022
Homeसोशल ट्रेंड'क्या पाकिस्तान को दे देना चाहिए कश्मीर?': MPPSC की परीक्षा में पूछा सवाल, प्रोफेसर...

‘क्या पाकिस्तान को दे देना चाहिए कश्मीर?’: MPPSC की परीक्षा में पूछा सवाल, प्रोफेसर अब नहीं तैयार कर पाएगा प्रश्न पत्र

"MPPSC की परीक्षा में कश्मीर से जुड़ा विवादित प्रश्न पूछने का प्रसंग आपत्तिजनक है। विवादास्पद प्रश्न पूछने वाले दोनों पेपर सेटर्स पर भविष्य में प्रश्न पत्र तैयार करने पर रोक लगा दी गई है।"

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) की परीक्षा में कश्मीर पर पूछे गए विवादित सवाल पर आयोग ने पेपर सेट करने वाले पर एक्शन लिया है। लोक सेवा आयोग ने पेपर सेट करने वाले पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उस पर भविष्य में प्रश्न पत्र तैयार करने पर रोक लगा दी है। वहीं प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने भी इस संबंध में ट्​वीट किया है। उन्होंने कहा, “MPPSC की परीक्षा में कश्मीर से जुड़ा विवादित प्रश्न पूछने का प्रसंग आपत्तिजनक है। विवादास्पद प्रश्न पूछने वाले दोनों पेपर सेटर्स पर भविष्य में प्रश्न पत्र तैयार करने पर रोक लगा दी गई है।”

दरअसल, मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) की रविवार (19 जून 2022) को हुई राज्य सेवा एवं वन सेवा प्रारंभिक परीक्षा में कश्मीर को लेकर एक विवादित प्रश्न पूछा गया था, “क्या भारत को कश्मीर पाकिस्तान को देने का फैसला करना चाहिए?” पूछा गया था।

उत्तर चुनने के 2 तर्क भी दिए गए थे-

  1. हाँ, इससे भारत का धन बचेगा
  2. नहीं, ऐसे निर्णय से इसी तरह की और भी माँगे बढ़ जाएँगी।

यह हम सभी जानते हैं कि कश्मीर हमारा अभिन्न अंग है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर पेपर सेट करने वाले के खिलाफ आक्रोश फैल गया है। वहीं, मामले को गंभीरता से लेते हुए आपत्तिजनक सवाल पूछने वाले पर कड़ी कार्रवाई की गई है। लोक सेवा आयोग ने प्रश्नपत्र सेट करने वाले को नोटिस भेजते हुए MPPSC के सभी कामों को करने से रोक लगा दी है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, आयोग ने प्रश्नपत्र बनाने वाले को नोटिस जारी करते हुए लिखा कि इस सवाल के अवलोकन के बाद संज्ञान में आया है कि प्रश्न विवादास्पद है। इसके साथ ही सवाल तैयार करने के दौरान दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया गया। इसे कदाचरण की श्रेणी में मान कर आपको भविष्य के लिए आयोग के सभी कार्यों से हटाया जाता है।

मध्य प्रदेश की बोर्ड परीक्षा में पूछा गया भारत-विरोधी सवाल

गौरतलब है कि मार्च 2020 में भी, मध्य प्रदेश में दसवीं की बोर्ड की परीक्षा में सामाजिक विज्ञान के पेपर में ‘आजाद कश्मीर’ को लेकर सवाल पूछा गया था। आज़ाद कश्मीर’ शब्द का इस्तेमाल पाकिस्तान कश्मीर के उस हिस्से के लिए करता है जिस पर उसने कब्जा कर रखा है, यानी ‘पाक अधिकृत कश्मीर’ अथवा ‘Pakistan Occupied Kashmir (PoK)’ के लिए करता है।

बता दें कि पाक द्वारा कब्जा किए हुए इलाक़े को ‘आज़ाद’ कह कर मध्य प्रदेश की कॉन्ग्रेस सरकार ने भारत विरोधी स्टैंड को आगे बढ़ाया था। उस वक्त राज्य में विपक्षी पार्टी भाजपा ने इस प्रश्न-पत्र को लेकर सवाल उठाए थे। तब भाजपा ने कहा था कि राज्य में कॉन्ग्रेस की सरकार है, ऐसे में इन सवालों का पूछा जाना आश्चर्य की बात नहीं है। पार्टी ने यह भी कहा था कि कॉन्ग्रेस तो वैसे भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अलगाववादी आन्दोलनों का समर्थन करती रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe