Monday, July 26, 2021
Homeसोशल ट्रेंडराकेश टिकैत और 'किसान' गैंग में अकेले लगाया 'नरेंद्र मोदी जिंदाबाद... भारत माता की...

राकेश टिकैत और ‘किसान’ गैंग में अकेले लगाया ‘नरेंद्र मोदी जिंदाबाद… भारत माता की जय’ का नारा: Video Viral

'किसानों' की भीड़ मोदी विरोधी नारे लगाना शुरू कर देती है... लेकिन अकेला इंसान उस भीड़ से ज्यादा जोर से चिल्लाते हुए 'नरेंद्र मोदी जिंदाबाद'… 'भारत माता की जय' के नारे लगाता रहता है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें एक आदमी है। वो भीड़ के बीच में है और ‘नरेंद्र मोदी जिंदाबाद’ के साथ-साथ ‘भारत माता की जय’ के नारे लगा रहा है।

वीडियो इसलिए वायरल हो रहा है क्योंकि जिस भीड़ के बीच में वो इंसान अकेला नारा लगा रहा है, वो भीड़ ‘किसानों’ की भीड़ है। उसी भीड़ में ‘किसान’ नेता राकेश टिकैत भी है।

यह वायरल वीडियो कब की है, इसके बारे में पता नहीं। लेकिन इसकी शुरुआत में राकेश टिकैत की जयकार को आप सुन सकते हैं। फिर अचानक से लगभग 20 सेकंड के बाद एक आदमी जोर-जोर से तेज आवाज में ‘नरेंद्र मोदी जिंदाबाद’… ‘नरेंद्र मोदी जिंदाबाद’ बोलने लगता है।

राकेश टिकैत और उसके समर्थक स्तब्ध रह जाते हैं। कुछ देर के लिए वे चुपचाप इस आदमी को देखते हैं। फिर वो सब मोदी विरोधी नारे लगाना शुरू कर देते हैं, लेकिन ये अकेला इंसान उस भीड़ से ज्यादा जोर से चिल्लाते हुए ‘नरेंद्र मोदी जिंदाबाद’… ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाता रहता है।

यह वायरल वीडियो कहाँ शूट किया गया, यह भी स्पष्ट नहीं है। देखने में कोई रेलवे स्टेशन जैसा प्रतीत हो रहा है।

राकेश टिकैत के बारे में बता दें कि वो हाल ही में पश्चिम बंगाल के आगामी चुनावों में भाजपा के खिलाफ प्रचार करने के लिए बंगाल गए थे। उन्होंने ममता बनर्जी के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ टीएमसी को समर्थन दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe