Tuesday, September 28, 2021
Homeसोशल ट्रेंडमृत्यु बालिका वधू वाले सिद्धार्थ शुक्ला की, पढ़ा जा रहा रंग दे बसंती वाले...

मृत्यु बालिका वधू वाले सिद्धार्थ शुक्ला की, पढ़ा जा रहा रंग दे बसंती वाले सिद्धार्थ का शोक संदेश; एक्टर ने पूछा- हम कितना नीचे गिरेंगे

सोशल मीडिया पर कुछ लोग हिंदी फिल्म एक्टर और रंग दे बसंती फिल्म में नजर आए सिद्धार्थ की तस्वीर को शेयर करके उस पर श्रद्धांजलि दे रहे हैं। हालाँकि, कुछ लोग इस काम को अंजाने में कर रह हैं लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो ये सब जानबूझ कर कर रहे हैं।

टेलीविजन एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला के निधन के बाद से ही उन्हें सोशल मीडिया पर लाखों यूजर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। लोगों को अब भी यकीन नहीं है कि उनके पसंदीदा कलाकारों में से एक सिद्धार्थ अब इस दुनिया में नहीं हैं। लेकिन कुछ लोग सोशल मीडिया में उनकी जगह दूसरे सिद्धार्थ नामक एक्टर की तस्वीर शेयर करके श्रद्धांजलि दे रहे हैं। ये रंग दे बसंती वाले सिद्धार्थ हैं।

सिद्धार्थ की मौत की खबर आने के बाद से ही सोशल मीडिया पर हिंदी फिल्म एक्टर और रंग दे बसंती फिल्म में नजर आए सिद्धार्थ की तस्वीर को शेयर कर उस पर कुछ लोग श्रद्धांजलि दे रहे हैं। कुछ ऐसा अनजाने में कर रह हैं तो कई जान-बूझकर। ऐसे लोगों पर सिद्धार्थ ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा, “जान-बूझकर की गई घृणा और प्रताड़ना। हम और कितना नीचे गिरेंगे?”

एक्टर सिद्धार्थ ने इस बाबत एक और ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, “मुझे लगता है कि आज कल कुछ भी हैरान नहीं करता है। मैं मूक हो गया हूँ।”

गौरतलब है कि बालिका वधू सीरियल से फेमस हुए सिद्धार्थ शुक्ला का 2 सितंबर को 40 साल की उम्र में निधन हो गया था। इसके बाद आज उनका अंतिम संस्कार होना है। उन्हें अस्पताल से सीधे ओशिवारा श्मशाम घाट ले जाया गया। उनकी मृत्यु हुए 24 घंटे बीत चुके हैं। इस बीच शहनाज गिल की एक तस्वीर सामने आई हैं जिसमें वह बदहवास अवस्था में नजर आ रही हैं। उनके साथ उनके भाई बैठे हैं।

मालूम हो कि रंग दे बसंती फेम सिद्धार्थ अकेले नहीं है जिन्हें लेकर सोशल मीडिया पर ऐसी बातें हो रही हैं। कुछ स्क्रीनशॉट ऐसे भी देखने को मिले हैं जिसमें सिद्धार्थ मल्होत्रा को सिद्धार्थ शुक्ला समझ कर तस्वीर साझा कर दी गई है। एक यूजर लिखती है, “मैं विश्वास नहीं कर पा रही। कल रात ही मैं शेरशाह देख रही थी और कभी सोचा भी नहीं था कि अगली सुबह उनकी मृत्यु हो जाएगी। RIP सिद्धार्थ।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,827FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe