Wednesday, September 22, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'माँ और बच्चे की कामुकता' पर पोस्ट कर जनआक्रोश भड़काने वाली महिला ने 'बीडीएसएम...

‘माँ और बच्चे की कामुकता’ पर पोस्ट कर जनआक्रोश भड़काने वाली महिला ने ‘बीडीएसएम वर्कशॉप’ का ऐलान कर छेड़ा नया विवाद

यह पहली बार नहीं है जब बरनवाल सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आई हों। इससे पहले उनकी एक फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट इंटरनेट पर वायरल हुआ था, जिसमें उन्हें 'mother and child sexuality' पर बेहद विवादित टिप्पणी करते देखा जा सकता था।

सेक्स एजुकेटर (Intimacy coach) पल्लवी बरनवाल ने एक बार फिर सोशल मीडिया पर एक विवादित पोस्ट शेयर कर हलचल मचा दी है। दरअसल, वह जल्द ही ‘बीडीएसएम फॉर बिगिनर्स’ पर एक वर्कशॉप आयोजित करने वाली हैं। बीडीएसएम ‘bondage and discipline, dominance and submission, sadism and masochism’ अर्थात ‘बंधन और अनुशासन, प्रभुत्व और अधीनता, प्रताड़ना और पुरुषवाद’ का संक्षिप्त रूप है। एक यौन जीवन शैली जहाँ एक साथी प्रभुत्व की भूमिका निभाता है और दूसरा अधीनता की।

बीडीएसएम में आमतौर पर प्रताड़ना और दो पाटर्नर के बीच ‘मालिक-गुलाम’ का संबंध शामिल होता है। पल्लवी बरनवाल का दावा है वह उन लोगों के लिए एक वर्कशॉप आयोजित करेंगी, जो ऐसा करके अपनी जीवन शैली बेहतर बनाना चाहते हैं।

फोटो : ट्विटर

सोशल मीडिया पर वर्कशॉप का पोस्टर शेयर करके वह लोगों के निशाने पर आ गई हैं। लोगों ने उन्हें ट्रोल करते हुए कहा कि वे sexual degeneracy को क्या मानती हैं। वर्कशॉप को बकवास जोक्स बताते हुए लोगों ने उनके पोस्टर का जमकर मजाक भी उड़ाया।

हालाँकि, यह पहली बार नहीं है जब बरनवाल सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आई हों। इससे पहले उनकी एक फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट इंटरनेट पर वायरल हुआ था, जिसमें उन्हें ‘mother and child sexuality’ पर बेहद विवादित टिप्पणी करते देखा जा सकता था।

हमें फेसबुक पर वह पोस्ट नहीं मिली। संभव है कि उसे हटा दिया गया होगा। फिर भी हम इसकी प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं कर सकते। हालाँकि, पिछले कुछ वर्षों में इसे व्यापक रूप से फैलाया गया है। पोस्ट में पल्लवी बरनवाल बाल यौन शोषण के एक पीड़ित की बात करती हैं, जिसका अपनी ही माँ द्वारा यौन शोषण किया गया था।

Source: Reddit

पीड़ित व्यक्ति अपराध, क्योंकि उसकी माँ ने उसे उसके शरीर के अंगों को लेकर कुछ उचित बातें नहीं बताई थीं। यह विवादित हिस्सा पोस्ट के अंत में लिखा गया है, जो कहीं न कहीं दुराचार का समर्थन करता है। उन्होंने लिखा, “मैंने दीपक (असली नाम) को अपराधबोध से दूर रहने के लिए कहा। ऐसा तब होता है जब किसी नेचुरल ड्राइव सेक्स ड्राइव को दबा दिया जाता है। दीपक और उनकी माँ दोनों ही यौन इच्छा दबाने वाली संस्कृति के शिकार हैं, जहाँ सेक्स को व्यक्त नहीं किया जाना चाहिए और न ही इस बारे में बात की जानी चाहिए।”

एक यौन उत्पीड़न करने वाली महिला के लिए उनकी सहानुभूति ने सोशल मीडिया पर लोगों को खासा नाराज कर दिया था। काफी लोगों ने इसके लिए उनकी आलोचना भी की। हालाँकि, ऐसा लगता है कि इससे उनके करियर को कोई नुकसान नहीं पहुँचा है, क्योंकि वह बीडीएसएम पर एक वर्कशॉप के साथ फिर से वापसी कर रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe