Wednesday, June 19, 2024
Homeसोशल ट्रेंडकहीं भगवान पर थप्पड़, कहीं पेड़ में बांधकर हंटर… वामपंथन फेमिनिस्ट प्रियंका पॉल के...

कहीं भगवान पर थप्पड़, कहीं पेड़ में बांधकर हंटर… वामपंथन फेमिनिस्ट प्रियंका पॉल के हिंदू घृणा से सने पोस्ट, मुंबई पुलिस में शिकायत

मुंबई पुलिस को टैग कर करके प्रियंका पॉल के विरुद्ध एक्शन लेने को कहा जा रहा है। वहीं रैंडम सेना के ट्वीट के हिसाब से तो उनके कार्यकर्ता ठाणे के अंबरनाथ पुलिस स्टेशन भी पहुँच गए हैं। उन्होंने अपील की है कि लोग अपने करीबी थाने में जाकर शिकायतें दें।

सनातन धर्म के खिलाफ घृणा फैलाना लिबरल नारीवादियों का पसंदीदा काम रहा है। इसी क्रम में एक प्रियंका पॉल नाम की वामपंथी महिला की आईडी फिर चर्चा में है। प्रियंका पॉल अपने इंस्टाग्राम अकॉउंट के जरिए लंबे समय से हिंदू धर्म को अपमानित करने वाली सामग्री का प्रचार-प्रसार करती रही है।

उसकी आईडी सामने आने के बाद गिरफ्तारी की माँग हो रही है। मुंबई पुलिस को टैग कर करके प्रियंका पॉल के विरुद्ध एक्शन लेने को कहा जा रहा है। वहीं रैंडम सेना के ट्वीट के हिसाब से तो उनके कार्यकर्ता ठाणे के अंबरनाथ पुलिस स्टेशन भी पहुँच गए हैं। उन्होंने अपील की है कि लोग अपने करीबी थाने में जाकर शिकायतें दें।

बता दें कि हिंदू संगठनों का प्रियंका पॉल पर इतना गुस्सा इसलिए है क्योंकि उसने अपने हिंदू विरोधी पोस्टों में हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया हुआ है। इसमें डॉ भीम रॉव अंबेडकर को भगवान राम को थप्पड़ मारते दिखाया गया है। इसके अलावा प्रियंका पॉल ने एक फोटो शेयर की थी जिसमें उसके हाथ पर टैटू है। इस टैटू में भगवान राम को पेड़ में बंधा दिखाकर भीम राव अंबेडकर के हाथ में हंटर दिखाया गया है। इसे साझा करते हुए प्रियंका ने लिखा था कि लोगों ने उसे कहा कि ये टैटू उसे महंगा पड़ेगा। उसे वाकई महंगा पड़ा-24000 का।

फिलहाल प्रियंका पॉल ने अपनी आईडी को प्राइवेट कर लिया है। उसकी आईडी पर 74 हजार से ज्यादा फॉलोवर्स हैं। कहा जा रहा है कि पहले ये आईडी पब्लिक थी लेकिन हिंदुओं के आवाज उठाने के बाद प्रियंका ने अपनी करतूतें छिपाने के लिए इसे प्राइवेट किया है।

कुछ लोगों का कहना है कि हिंदू संगठन उसके खिलाफ ज्यादा कठोर हो रहे हैं। लड़की के साथ ऐसा नहीं करना चाहिए। जबकि कुछ लोग कह रहे हैं कि ये सिर्फ हिंदू धर्म ही हैं जहाँ भगवान का ऐसा अपमान देखने के बाद भी लोग कानूनी तरीके से लड़की पर कार्रवाई की माँग कर रहे हैं। अन्य मजहब को लेकर ऐसे घटिया प्रयास किए जाते तो क्या होता इसकी प्रतिक्रिया क्या होती ये छिपी नहीं है।

बता दें कि प्रियंका पॉल के खिलाफ पहले दफा मुकदमा दर्ज कराने की बात नहीं हो रही। 2022 में हिंदू आईटी सेल ने भी प्रियंका पर केस किया था। उन्होंने माँग की थी कि आईपीसी की धारा 153 ए, 298, 504, 505 के तहत केस हो। हालाँकि हिंदू आईटी सेल के मुताबिक, इस मामले पर एक्शन लिया जाना अभी बाकी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -