Sunday, August 1, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'मुस्लिम बन जाओ... इस्लाम में ये सब हराम है': सारा अली खान के माथे...

‘मुस्लिम बन जाओ… इस्लाम में ये सब हराम है’: सारा अली खान के माथे पर चंदन और कामाख्या मंदिर, भड़के कट्टरपंथी

“इतनी भी छूट नहीं देनी चाहिए औलाद को कि वो सीधे रास्ते से भटक जाए। पता नहीं तुम्हारा बाप कैसे इजाजत दे देता है तुम्हें इन पुतलों को पूजने की।”

बॉलीवुड एक्ट्रेस सारा अली खान अक्सर अपनी सोशल मीडिया तस्वीरों के कारण चर्चा में रहती हैं। पर इस बार कुछ ऐसा हुआ कि कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गईं। सारा ने अपने इंस्टाग्राम पर कल (जुलाई 11, 2021) कुछ तस्वीरें शेयर की जिसमें वह कामाख्या मंदिर के अंदर थी। इसे देख जहाँ कई लोग उनके फैन हो गए। वहीं कट्टरपंथियों की जमात ऐसी भी मिली जो उन्हें इस्लाम का पाठ पढ़ाने लगी।

सारा ने जहाँ अपनी सफेद सूट में फोटो डाली और उनके माथे पर टीका लगा दिखाई दिया। वहीं इस्लामियों ने ये सब देख कर उन्हें तरह-तरह की बातें कहीं। एक कट्टरपंथी ने सारा को हिदायत दी कि वह मुसलमान बन जाएँ वरना अल्ला हरगिज शिर्क को माफ नहीं करेगा।

यूजर लिखता है, “मुस्लिम बन जाओ। अल्लाह हरगिज शिर्क को माफ नहीं करेगा। चंद साँसों की जिंदगी है उसके बाद अल्लाह के सामने पेश होना है उसकी तैयारी करो। ये जहालत के कामों से बचो। अल्लाह आपको हदायत दे।”

एक अन्य यूजर सारा की तस्वीर पर लिखती है, “मुझे तुम पर दया आती है सारा अगर तुम इस उम्र में आकर भी अपने मजहब के बारे में नहीं समझ पा रहीं तो तुमको शर्म आनी चाहिए। धोबी का कुत्ता न घर का न घाट का।”

शाह फैजल लिखते हैं, “तुम से बेहतर सना खान है सब छोड़कर अल्लाह से मोहब्बत इबादत में मशगूल है।” रियाज फाकिजा लिखती हैं, “नाम मुस्लिम पहचान हिंदू। मेरी सलाह मानो और वही धर्म अपना लो क्योंकि इस्लाम में ये सब हराम है।”

नूर आजम सारा के लिए कहते हैं कि सारा खुल चुकी है परदे पर। इसमें इसका क्या कसूर है। कसूर तो माँ और पटौदी साहब का है। हिना राणा लिखती हैं, “इतनी भी छूट नहीं देनी चाहिए औलाद को कि वो सीधे रास्ते से भटक जाए। पता नहीं तुम्हारा बाप कैसे इजाजत दे देता है तुम्हें इन पुतलों को पूजने की।”

कुछ इस्लामियों ने सारा पर तंज कसते हुए पूछा कि क्या वो मुस्लिम ही हैं और कुछ ने कहा कि ऐसा वह मूवी के लिए कर रही हैं। एक महिला यूजर ने लिखा, “मुस्लिम होकर ये सब करते हो शर्म नहीं आती क्या तुझे। कैसे गाली दूँ समझ नहीं आ रहा है।”

उल्लेखनीय है कि ये पहली बार नहीं है जब सारा अली खान को हिंदू मंदिरों में जाने या भगवान के आगे हाथ जोड़ने के लिए कट्टरपंथियों ने अपने निशाने पर लिया हो। इससे पहले कई बार सारा के साथ ये हुआ है। सारा चूँकि सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी हैं तो वह दोनों धर्मों को फॉलो करती है। लेकिन कट्टरपंथियों को ये बातें रास नहीं आतीं। पिछली बार उन्हें गणपति के साथ फोटो डालने पर ट्रोल किया गया था और गंंदी-गंदी गालियाँ दी गई थीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe