Thursday, August 18, 2022
Homeसोशल ट्रेंडकन्हैया लाल के हत्यारे 'इस्लाम के शेर': जहरीले ट्वीट पर एक्शन लेने से ट्विटर...

कन्हैया लाल के हत्यारे ‘इस्लाम के शेर’: जहरीले ट्वीट पर एक्शन लेने से ट्विटर ने कर दिया था इनकार, अपनी पॉलिसी को भी नजरअंदाज किया

ट्विटर यूजर @kansaratva ने स्क्रीनशॉट शेयर करके ट्विटर के इस दोहरे रवैये की पोल खोली। उन्होंने एक ट्वीट में दिखाया कि कैसे हैदर ने उन दोनों हत्यारों की वीडियो साझा करके लिखा था, "ये इस्लाम के असली शेर है। अल्लाह भी डरपोकों से नफरत करता है। आखिरकार भारतीय मुसलमान मोदी के विरुद्ध खड़े होना शुरू हो गए हैं।"

उदयपुर में कन्हैया लाल की निर्मम हत्या के बाद सामने आई हत्यारों की वीडियो ने सबको झकझोरा। किसी ने इस वीडियो की निंदा करते हुए इसे आगे बढ़ाया तो किसी ने इस्लामी कट्टरता को बयां करने के लिए इसे शेयर किया। लेकिन इसी बीच कुछ कट्टरपंथी भी सामने आए जिन्होंने इस वीडियो को बहादुरी का कारनामा बता कर प्रदर्शित किया।

हैदर नाम का ट्विटर यूजर उन्हीं लोगों में से एक था जिसने कन्हैया लाल के हत्यारों को ‘इस्लाम का शेर’ कहा और ट्विटर ने इस ट्वीट पर कार्रवाई करने की जगह शुरुआत में ये कह दिया कि हैदर द्वारा शेयर वीडियो और ट्वीट उनकी सुरक्षा नीतियों के विरुद्ध नहीं गया है। हालाँकि बाद में उन्हें कई जगह से रिपोर्ट होने के कारण इस अकॉउंट को सस्पेंड करना पड़ा।

ट्विटर यूजर @kansaratva ने स्क्रीनशॉट शेयर करके ट्विटर के इस दोहरे रवैये की पोल खोली। उन्होंने एक ट्वीट में दिखाया कि कैसे हैदर ने उन दोनों हत्यारों की वीडियो साझा करके लिखा था, “ये इस्लाम के असली शेर है। अल्लाह भी डरपोकों से नफरत करता है। आखिरकार भारतीय मुसलमान मोदी के विरुद्ध खड़े होना शुरू हो गए हैं।”

इसी ट्वीट को देख जब ट्विटर यूजर @kansaratva ने शिकायत की तो कंपनी ने उन्हें मेल किया कि उन्होंने हैदर का ट्वीट देख लिया है और उन्हें नहीं लगता कि इस ट्वीट में कुछ भी ऐसा है जिससे सुरक्षा नीतियाँ आहत हों। आगे ट्विटर ने यूजर को सलाह दी कि अगर वह कंपनी के इस जवाब से सहमत नहीं हैं तो वो हैदर को ब्लॉक कर सकते हैं। इससे उन्हें वो ट्वीट दिखना बंद हो जाएगा।

अब गौर देने वाली बात ये है कि अपने ही मेल में ट्विटर ने वो सारी बातें भी बताई हैं जिनके आधार पर ट्विटर किसी अकॉउंट पर कार्रवाई करता है, और हैदर द्वारा शेयर ट्वीट में ये सारी चीजें मौजूद थीं। कट्टरपंथी हिंदुओं को धमकी दे रहे थे, कन्हैया लाल की हत्या का जश्न मना रहे थे, आने वाले समय में हिंसा की बात कर रहे थे, आदि।

यानी हैदर का ट्वीट, ट्विटर के हर मानक के हिसाब से सुरक्षा नीतियों के विरुद्ध था। बावजूद इस पर कार्रवाई न होना बताता है कि ट्विटर इंडिया अपने यूजर्स की शिकायतों पर इतनी गंभीरता भी नहीं दिखाता कि रिपोर्ट हुए ट्वीट का रिव्यू अपने मानको पर ही कर सके।

लाहौर से चल रहा हैदर का अकॉउंट

फिलहाल हैदर का अकॉउंट सस्पेंड है। ट्विटर पर अजयेंद्र उर्मिला त्रिपाठी नाम रिसर्चर ने इस अकॉउंट की लोकेशन भले ही दिल्ली सेट की गई हो लेकिन हकीकत में ये पाकिस्तान से संचालित हो रहा था। त्रिपाठी दावा करते हैं कि हैदर लाहौर में बैठ कर इस तरह के ट्वीट कर रहा है और लोकेशन दिल्ली इसलिए डाली गई है ताकि अन्य लोग भ्रमित हो सकें और वह लोग इस स्थिति का फायदा उठा पाएँ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

1 नाव-3 AK 47, कारतूस और विस्फोटक भी: जैसे 26/11 के लिए समंदर से आए पाकिस्तानी आतंकी, वैसे ही इस बार महाराष्ट्र के तट...

डिप्टी सीएम ने जानकारी दी कि अभी तक किसी आतंकी एंगल की पुष्टि नहीं हुई है। केंद्रीय जाँच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है।

रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड बनवा रहा है PFI : पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा

फर्जी दस्तावेज से पीएफआई बनवा रहा है रोहिंग्याओं और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड। पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,081FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe