Saturday, July 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंडशेहला रशीद: 'दो वक़्त की रोटी और फेक पब्लिसिटी के लिए झूठी औरत भारत...

शेहला रशीद: ‘दो वक़्त की रोटी और फेक पब्लिसिटी के लिए झूठी औरत भारत के विरुद्ध ज़हर उगलती है’

ट्विटर यूजर ने लिखा है कि अब शेहला के बकवासों की हद हो चुकी है और उसे क़ानून के डंडे का सामना करना पड़ेगा। कुछ लोगों ने शेहला को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया है।

पाकिस्तानी प्रोपेगंडा चलाने के लिए शेहला रशीद को भारतीय सेना से फटकार मिली है। सोशल मीडिया पर लोग उसकी गिरफ़्तारी के लिए अभियान चला रहे हैं। दरअसल, एक के बाद एक कई ट्वीट्स करते हुए शेहला ने जम्मू-कश्मीर की हालत बेहद खराब होने का दावा करते हुए सशस्त्र बलों पर कश्मीरियों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। सेना ने इसे खारिज करते हुए शेहला के आरोपों को बेबुनियाद बताया है। साथ ही कहा है कि असामाजिक तत्व और संगठन लोगों को भड़काने के लिए फर्जी खबरें फैला रहे हैं।

इसके बाद से ट्विटर पर “Arrest Shehla Rashid” ट्रेंड कर रहा है। ट्विटर यूजर ने लिखा है कि अब शेहला के बकवासों की हद हो चुकी है और उसे क़ानून के डंडे का सामना करना पड़ेगा। कुछ लोगों ने शेहला को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया है।

एक अन्य यूजर ने शेहला के दो फोटोज शेयर किए। दावा किया गया है कि एक तस्वीर जेएनयू की तो दूसरी श्रीनगर की है। जेएनयू में वह ‘अकेली-आवारा-आज़ाद’ लिखी टी-शर्ट में है, जबकि श्रीनगर वाली फोटो में वह हिजाब पहनी दिखती है। आप भी देखें:

एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा कि दो वक़्त की रोटी और फेक पब्लिसिटी के लिए ‘झूठी औरत’ भारत के विरुद्ध ज़हर उगलती है। उसने यह भी लिखा कि वामपंथी और पाकिस्तानी शेहला से काफ़ी प्यार करते हैं।

शेहला के दावों को सेना द्वारा बेबुनियाद करार देने के बाद वकील आलोक श्रीवास्तव में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। श्रीवास्तव ने शेहला के खिलाफ सेना और सरकार के खिलाफ झूठ फैलाने और गुमराह करने का आरोप लगाते हुए आपराधिक शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही उसकी तत्काल गिरफ्तारी की मॉंग की है।

एक ट्विटर यूजर ने शाह फैसल की ओर इशारा करते हुए पूछा कि अगर शेहला के ‘तुर्की बॉस’ को गिरफ़्तार किया जा सकता है तो फिर शेहला रशीद को क्यों नहीं?

शेहला रशीद फिलहाल आईएएस से नेता बने शाह फैसल के साथ जम्मू-कश्मीर की राजनीति में स्थापित होने की कोशिश कर रही हैं। शाह फैसल वही नेता हैं जिन्होंने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के प्रावधानों को निष्क्रिय किए जाने के बाद ‘बदला’ लेने की धमकी दी थी। उन्हें पिछले दिनों दिल्ली एयरपोर्ट पर उस समय रोक लिया गया था जब वे देश छोड़ने की कोशिश कर रहे थे। फिलहाल वे श्रीनगर में नजरबंद हैं। बताया जाता है कि वे भारत सरकार के फैसले के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा खटखटाने के लिए देश छोड़कर जा रहे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -