Thursday, July 18, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'Miss You-Kiss You' से लेकर योग और गोमांस तक इरा त्रिवेदी के 'कर्मों' पर...

‘Miss You-Kiss You’ से लेकर योग और गोमांस तक इरा त्रिवेदी के ‘कर्मों’ पर रिग्रेसिव हिन्दू नजर

ट्विटर पर इरा त्रिवेदी को लेकर चल रहे विवाद के बाद कल ही चेतन भगत ने एक ट्वीट करते हुए लिखा- “Karma”, इस ट्वीट के बाद यूज़र्स Me Too (मीटू) अभियान के बारे में सोचने को मजबूर जरूर हो गए।

गाय के माँस को झूठे आँकड़ों के आधार पर प्रोटीन का सबसे बेहतर स्रोत बताने वाली कथित योग गुरु इरा त्रिवेदी आजकल चर्चा में हैं। इरा त्रिवेदी और विवाद का सिर्फ एक दिन का रिश्ता नहीं है। बीफ (गोमांस) के प्रचार से पहले इरा त्रिवेदी सस्ती लोकप्रियता के लिए महिला उत्पीड़न जैसे संवेदनशील मुद्दे का मजाक भी बना चुकी हैं।

इरा द्वारा गोमांस के प्रचार को लेकर सामने आए विवाद के बाद उन्हें दूरदर्शन ने चौबीस घंटे घर पर योग करने की आजादी दे दी है। अब वो दूरदर्शन पर योग नहीं सिखा पाएँगी। हालाँकि, इस प्रकरण के बाद वो ट्विटर पर माफ़ी माँगती नजर आईं थी। इस पूरे विवाद के बाद आज अचानक चेतन भगत के ट्वीट ने #Metoo कैम्पेन की यादें भी ताजा कर दी है।

दरअसल, ट्विटर पर इरा त्रिवेदी को लेकर चल रहे विवाद के बाद कल ही चेतन भगत ने एक ट्वीट करते हुए लिखा- “Karma”

हालाँकि, चेतन भगत ने इस ट्वीट के बाद आगे कुछ भी नहीं लिखा है, लेकिन ट्विटर यूज़र्स इसके बाद Me Too (मीटू) अभियान के बारे में सोचने को मजबूर जरूर हो गए।

पिछले साल इस मुहिम के शुरू होने के बाद कई महिलाओं को अपने साथ घर और कार्यक्षेत्र पर हुए यौन उत्पीड़न के बारे में खुलकर कहने का हौसला मिला था। यह अभियान इतना ताकतवर था कि विदेशों में कई नामी हस्तियों को इसके बाद अपने-अपने क्षेत्रों में तगड़ा विरोध झेलना पड़ा। कई आरोपितों का उनके कार्यक्षेत्र से बहिष्कार कर दिया गया था, तो कई लोग अपने दोहरे चरित्र के कारण सबके सामने बेपर्दा हो गए। 

भारत में भी ऐसा ही कुछ देखा गया, लेकिन यहाँ पर ख़ास बात यह भी देखी गई कि इस अभियान में जिन लोगों के नाम उछले, उनके प्रति कई प्रगतिशील (जो रिग्रेसिव नहीं थे) और नारीवादियों ने एक समानांतर संवेदना दिखाई। घटिया कॉमेडी और अश्लील प्रोग्राम्स की वजह से प्रगतिशीलों की बाइबिल, AIB जैसे समूहों ने जरूर अपने कुछ लोगों को निष्कासित किया।

लेकिन, इरा त्रिवेदी जैसे कई लोगों ने इस अभियान का गलत फायदा उठाने के भी प्रयास किए। ठीक वैसे ही, जैसे अक्सर कुछ लोग अपने धर्म, जाति, मजहब और लैंगिक विषमताओं के आधार पर विक्टिम कार्ड खेलकर लोकप्रियता जुटाते हुए देखे जाते हैं।

भावनाओं में बहकर योग गुरु इरा त्रिवेदी ने चेतन भगत पर भी आरोप लगाए थे कि उन्होंने उनका उत्पीड़न करने की कोशिश की थी। उनका कहना था कि चेतन भगत ने उन्हें जबरदस्ती किस किया था।

इरा त्रिवेदी के इस आरोप की पोल खुद चेतन भगत ने ही उनके ईमेल के स्क्रीनशॉट सार्वजनिक कर के खोल दी थी और ट्वीट करते हुए लिखा था- “तो कौन किसे किस करना चाहता था।”

चेतन भगत के कल किए गए ‘कर्म’ (Karma) वाले ट्वीट का सम्बन्ध उसी घटना से जोड़कर देखा जा रहा है।

इरा त्रिवेदी के ग्रहों की दशा अवश्य ही विपरीत चल रही है। एक समय था जब उन्होंने इस्लाम के धर्म ग्रन्थ से तुलना करते हुए क़ुरान को आधुनिक और हिन्दुओं को रेग्रेसिव (यानी, जो प्रगति, तरक्की, और उन्नति के विरोधी होते हैं) बताकर खूब वाह-वाही लूटी थी। लेकिन, जैसा कि एक मशहूर गायक अल्ताफ राजा ने गाया है, “वो साल दूसरा था, ये साल दूसरा है….”

फिलहाल, दूरदर्शन ने एक नया ट्वीट शेयर किया है, लेकिन इसमें इरा त्रिवेदी गायब हैं। रोजाना स्वस्थ मन-मस्तिष्क के लिए योग जरूर करें, और ये शो देखना न भूल जाएँ।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -