Sunday, July 3, 2022
Homeसोशल ट्रेंडदेवी-देवताओं को अश्लील गालियाँ, भगवान राम और माँ काली पर आपत्तिजनक वीडियो: YouTube चैनलों...

देवी-देवताओं को अश्लील गालियाँ, भगवान राम और माँ काली पर आपत्तिजनक वीडियो: YouTube चैनलों की हिन्दूफोबिया, कार्रवाई की माँग

बता दें कि इन दोनों चैनलों पर भगवन राम, शिव, हनुमान के साथ बहुत से देवी-देवताओं और यहाँ कि मुख्यमंत्री योगी आदि से जुड़ी अभद्र एडिटेड कंटेंट खुलेआम मौजूद है।

वीडियो प्लेटफॉर्म यू ट्यूब पर आए दिन कई ऐसे चैनल बनाए जाते हैं जिनपर धड़ल्ले से हिन्दू विरोधी या देवी-देवताओं, भगवानों को गाली देते हुए अभद्र और अश्लील सामग्री पोस्ट की जाती है। लेकिन अक्सर उनपर कोई भी प्लेटफॉर्म उतनी तीव्रता से एक्शन नहीं लेता जितना दूसरे मजहबों या धर्मों के मामले में ये प्लेटफॉर्म करते आए हैं।

अभी ट्विटर यूजर अंशुल सक्सेना ने जिन दो यू ट्यूब चैनलों की तरफ इशारा किया है उनके नाम में ही हिन्दुओं के खिलाफ घृणा और देवी-देवताओं को गाली दी गई है। एक चैनल का नाम जहाँ L&da Ra%d c$ud gaa& वहीं दूसरे चैनल का नाम RA*DI M*A K*LI OFFC*AL है। हालाँकि, यहाँ रिपोर्ट में दोनों नामों में गाली होने की वजह से उन्हें बीप किया गया है।

वहीं इन दोनों चैनलों की शिकायत करते हुए अंशुल सक्सेना ने यू ट्यूब चैनल को ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा, “डियर @टीमयूट्यूब, ये 2 यूट्यूब चैनल हिंदुत्व के खिलाफ नफरत फैला रहे हैं। इन चैनलों के नाम भी हिंदू देवी-देवताओं को गाली दे रहे हैं।”

वहीं अंशुल सक्सेना के ट्वीट का यू ट्यूब ने जवाब देते हुए लिखा है, “संपर्क करने के लिए धन्यवाद – धर्म के आधार पर व्यक्तियों/समूहों के खिलाफ घृणा को बढ़ावा देना हमारी हेट स्पीच नीति में शामिल है। साथ ही यू ट्यूब ने अपने ऑटोमेटेड सा फील होते जवाब में आगे लिखा है कि किसी भी चैनल को फ्लैग करने के लिए https://yt.be/help/Hjx4, उनके अबाउट टू टैब > रिपोर्ट यूजर > में जाना है फिर संरक्षित समूह के विरुद्ध हेट स्पीच जाएँ: https://yt.be/help/report-content . ऐसा करके यू ट्यूब ने पूरी प्रक्रिया तो जरूर बताई है लेकिन अभी वो दोनों चैनल प्लेटफॉर्म से हटाएँ नहीं गए हैं।

बता दें कि इन दोनों चैनलों पर भगवन राम, शिव, हनुमान और माँ काली के साथ बहुत से देवी-देवताओं और यहाँ कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जुड़ी अभद्र और एडिटेड कंटेंट खुलेआम मौजूद है।

वहीं यू ट्यूब को उसकी जिम्मेदारी का एहसास कराते हुए कपिल पांडेय नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा है, “सबसे पहले, आपके प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कंटेंट को मॉडरेट करना आपका व्यवसाय है। आपकी टीम को आपके इस प्लेटफॉर्म को और अधिक लोगों के अनुकूल बनाने के लिए पहले से ही ऐसा एक्शन लेते रहना चाहिए।”

बता दें कई दूसरे लोगों ने भी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने के आधार पर सोशल मीडिया के वीडियो प्लेटफॉर्म यू ट्यूब से एक्शन की माँग की है।

दूसरे, यह रिपोर्टिंग आपके लिए उठाई गई चिंताओं पर गौर करने के लिए पर्याप्त क्यों नहीं है? और इस तरह से केवल ऑटोमेटेड जवाब भेजने के बजाय अपनी कमेंट्स और पॉलिसी के आधार पर आवश्यक कार्रवाई करें।

वहीं अंशुल सक्सेना द्वारा इस शिकायत के बाद कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने दूसरे गालीबाज, हिन्दूफोबिया से ग्रसित और देवी देवताओं को गाली देने वाले या ऐसा ही अभद्र कंटेंट परोसने वाले कई चैनलों की काली करतूतों को उजागर किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

8 लोग थे निशाने पर, एक डॉक्टर को वीडियो बना माँगनी पड़ी थी माफ़ी: उमेश कोल्हे के गले पर 5 इंच चौड़ा, 7 इंच...

उमेश कोल्हे के गले पर जख्म 5 इंच चौड़ा, 5 इंच लंबा और 5 इंच गहरा था। साँस वाली नली, भोजन निगलने वाली नली और आँखों की नसों पर भी वार किए गए थे।

सिर कलम करने में जिस डॉ युसूफ का हाथ, वो 16 साल से था दोस्त: अमरावती हत्याकांड में कश्मीर नरसंहार वाला पैटर्न, उदयपुर में...

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या में उनका 16 साल पुराना वेटेनरी डॉक्टर दोस्त यूसुफ खान भी शामिल था। उसी ने कोल्हे की पोस्ट को वायरल किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,752FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe