Tuesday, August 3, 2021

विषय

मिशन शक्ति

DRDO ने बताया कैसे पूरा हुआ मिशन शक्ति, वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

इसके साथ ही रेड्डी ने बताया कि इस मिशन के लिए सभी जरूरी परमिशन ली गई थी। इस बीच डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन ने मिशन शक्ति पर एक प्रेजेंटेशन भी जारी किया।

भारत की ‘मिशन शक्ति’ की सफलता से बौखलाए चीन ने इस तरह निकाली भड़ास

चीन भारत के द्वारा किए गए 'मिशन शक्ति' के सफल परीक्षण से तो दुखी है ही, साथ ही उसे इस बात का भी दुख है कि भारत को इसमें अमेरिका का सहयोग मिल रहा है।

A-SAT पर कॉन्ग्रेस में प्राथमिक ज्ञान का अभाव, ऐसे टेस्ट से पहले लंबी ग्लोबल प्लानिंग की ज़रूरत: PM

पीएम मोदी ने 'मिशन शक्ति' को लेकर विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कोई भी परीक्षण बस ऐसे ही नहीं हो जाता, इसके लिए एक लंबी प्रक्रिया होती है।

भारतीय कूटनीति की जीत: चीन-पाक अलग-थलग, US से आई 3 बड़ी ख़बरें करती है इसकी पुष्टि

24 घंटे के भीतर अमेरिका से तीन ख़बरें आई। तीनों एक से बढ़कर एक। तीनो ख़बरें भारतीय कूटनीति की सफलता का परिचायक तो हैं ही, साथ ही चीन-पाकिस्तान के अलग-थलग पड़ने का संकेत भी देती है।

कॉन्ग्रेस कर रही थी भारत पर अंतरराष्ट्रीय हमले का इंतज़ार, US ने कहा ‘हम भारत के साथ हैं’

"हमने एंटी सेटेलाइट सिस्टम के परीक्षण पर प्रधानमंत्री मोदी के बयान को देखा। भारत के साथ अपने मजबूत सामरिक साझेदारी के मद्देनज़र, हम अंतरिक्ष, विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्रों में सहयोग सहित, अतंरिक्ष सुरक्षा में सहभागिता के साझा हितों पर लगातार साथ मिलकर काम करते रहेंगे।"

मिशन शक्ति का वीडियो आया सामने, देखें कैसे मिसाइल ने ध्वस्त की सैटेलाइट

आज दिन में PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह ऑपरेशन बेहद मुश्किल था, लेकिन भारतीय वैज्ञानिकों और DRDO की टीम ने यह कर दिखाया है। सिर्फ तीन मिनट में लो अर्थ ऑरबिट सैटेलाइट (Low Earth Orbit Satellite) को ध्वस्त कर दिया गया।

एंटी-सैटलाइट पर Pak और चीन दोनों गा रहे शांति गीत, मिर्ची बहुत जोर की लगी है!

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाने की भी खबर आई, जिसका एजेण्डा पाकिस्तान की सुरक्षा को लेकर चर्चा ही माना जा रहा है।

मिशन शक्ति: कॉन्ग्रेसी चाटूकार गलत, मोदी इस रिस्क के लिए पूरी तरह से श्रेय के हकदार

मिशन शक्ति वैश्विक राजनीति में भारत की बढ़ती धाक का एक वसीयतनामा है। नरेंद्र मोदी ने पिछले पाँच वर्षों के दौरान जिन कूटनीतिक रिश्तों को मजबूती दी है, वे सभी सरकार को परीक्षण करने का विश्वास दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए होंगे।

मिशन शक्ति: भारत रहा अंतरराष्ट्रीय क़ानून के दायरे में, UN Space Treaty की प्रमुख बातें

आपने अक्सर सुना होगा कि फलाँ कम्पनी चाँद पर ज़मीन बेच रही है या फलाँ उद्योगपति ने वहाँ ज़मीं ख़रीदी। यह सब आउटर स्पेस ट्रीटी की अस्पष्टता के कारण होता है। हालाँकि, ये संधि बाह्य अंतरिक्ष में अस्त्र-शस्त्र की तैनाती को रोकती है।

#मिशन_शक्ति: अभी न होता तो कभी न होता

अगर चीन भारत के पास यह तकनीकी आने के पहले प्रतिबन्ध लगाने में सफल हो जाता तो हमारे सभी उपग्रह चीन की मिसाइलों का निशाना होते और हम कुछ न कर पाते।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,696FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe