Tuesday, October 19, 2021
Homeवीडियोछोटी बच्ची की डॉक्सिंग करने वाले जुबैर पर FIR: अजीत भारती का वीडियो |...

छोटी बच्ची की डॉक्सिंग करने वाले जुबैर पर FIR: अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Alt News co-founder Zubair booked under POCSO

मोहम्मद जुबैर। दुनिया इन्हें प्रोपेगेंडा वेबसाइट ऑल्टन्यूज के सह-संस्थापक के रूप में जानती है। लेकिन सोशल मीडिया पर ये डॉक्सिंग व फेक न्यूज फैलाने के लिए भी कुख्यात हैं। अभी हाल में NCPCR ने एक नाबालिग लड़की की डॉक्सिंग करने के आरोप में इन पर FIR की थी।

मोहम्मद जुबैर। दुनिया इन्हें प्रोपेगेंडा वेबसाइट ऑल्टन्यूज के सह-संस्थापक के रूप में जानती है। लेकिन सोशल मीडिया पर ये डॉक्सिंग व फेक न्यूज फैलाने के लिए भी कुख्यात हैं। अभी हाल में NCPCR ने एक नाबालिग लड़की की डॉक्सिंग करने के आरोप में इन पर FIR की थी।

डॉक्सिंग का अर्थ सोशल मीडिया पर किसी की भी प्राइवेट जानकारी को बिना उसकी मर्जी से सार्वजनिक कर देना होता है। जुबैर के अलावा इस काम के लिए वेबसाइट के संस्थापक प्रतीक सिन्हा भी कुख्यात हैं।

इनकी इन्हीं हरकतों की वजह कई बार कई यूजर्स को काफी प्रताड़ना झेलनी पड़ी है। किसी को नहीं मालूम होता कि आखिर ये लोग खुद कहाँ पर हैं। मगर, ये अपने संपर्कों और पहुँच का इस्तेमाल करके व्यक्ति विशेष से जुड़ी सभी जानकारी पब्लिक कर देते हैं। फिर कट्टरपंथी इन्हीं सूचनाओं का इस्तेमाल करके उस व्यक्ति को धमकी देने लगते हैं। इन्होंने ऐसा ही कुछ हमारे सीईओ के साथ भी किया था, वो भी तब जब उनकी नवजात बच्ची हुई थी।

पूरी वीडियो यहाँ क्लिक करके देखें

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रतिकार का आरंभ: 8 महीने से सूरत में लाउडस्पीकर पर सुबह-शाम बजती है हनुमान चालीसा, सत्संग भी हर शनिवार

स्थानीयों का कहना कि अन्य मजहब के लोग प्रार्थना समय में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करते हैं और किसी भी उठने वाली आपत्ति का मजाक बनाकर उसे नीचा दिखाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe