Thursday, June 20, 2024
Homeवीडियोदिल्ली दंगों की ग्राउंड रिपोर्टिंग: अजीत भारती का विश्लेषण | Ground Reporting in Delhi...

दिल्ली दंगों की ग्राउंड रिपोर्टिंग: अजीत भारती का विश्लेषण | Ground Reporting in Delhi Riots and Ajeet Bharti Analysis

फर्जी नैरेटिव बनाने की कोशिश की जा रही है कि मरने वाले दोनों तरफ के हैं। दोनों तरफ के लोगों की जानें गईं। लेकिन हकीकत तो ये है हिन्दुओं की नृशंस हत्या करने और उनके घरों-दुकानों को जलाने के लिए कई दिन पहले ही सात ट्रकों में भरकर पत्थर ताहिर हुसैन की छत पर जमा हो गए थे।

पिछले दिनों दिल्ली में हुए दंगों में इस्लामिक कट्टरता का घिनौना रूप देखने को मिला। दिलवर सिंह नेगी के हाथ-पैर काटकर उसे जलती हुई दुकान में फेंक दिया गया। कॉन्स्टेबल रतन लाल को इरादतन घेर कर मार डाला गया। एक बहुत ही योजनाबद्ध तरीके से हिन्दुओं का नरसंहार करने की कोशिश की गई, जिसमें कितने ही मासूम हिन्दुओं को धार्मिक घृणा का शिकार बनाया गया।  

ऊपर से एक फर्जी नैरेटिव बनाने की कोशिश की जा रही है कि मरने वाले दोनों तरफ के हैं। दोनों तरफ के लोगों की जानें गईं। लेकिन हकीकत तो ये है हिन्दुओं की नृशंस हत्या करने और उनके घरों-दुकानों को जलाने के लिए कई दिन पहले ही सात ट्रकों में भरकर पत्थर ताहिर हुसैन की छत पर जमा हो गए थे। वहीं शिव विहार के लोगों का कहना है कि हाजी युनुस ने पास की मस्जिद में जाकर एक लंबी मीटिंग की और उसके बाद लगभग 400 लीटर पेट्रोल से हिन्दुओं और उनके घरों-दुकानों पर हमला किया गया।

पूरी वीडियो यहाँ क्लिक कर के देखें

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पत्रकार अजीत भारती को ‘नोटिस’ देने के लिए चोरों की तरह आई कर्नाटक पुलिस, UP पुलिस ले गई अपने साथ: बेंगलुरु में FIR दर्ज...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार ने पत्रकार अजीत भारती के घर पुलिस भेजी है। पुलिस ने अजीत भारती को एक नोटिस दिया है।

एक ने परीक्षा से पहले ही सॉल्व कर लिए सवाल, दूसरी परीक्षा देने ही नहीं गई… फिर भी कॉन्ग्रेस राज में बन गईं लेक्चरर:...

कॉन्ग्रेस शासन में राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) की लेक्चरर भर्ती परीक्षा 2022 में पेपर लीक और फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -