Saturday, October 1, 2022
Homeवीडियोहिंदूफोबिया से सनी खबरेंहिंदू लड़कियाँ कैसे सोच लेती हैं राहुल के भेष में छिपा इमरान उन्हें घर...

हिंदू लड़कियाँ कैसे सोच लेती हैं राहुल के भेष में छिपा इमरान उन्हें घर में मूर्ति पूजा करने देगा?

आखिर हिंदू लड़कियाँ कैसे सोच लेती हैं कि एक मजहब जिसने लूटपाट के नाम पर सिर्फ देवी-देवताओं की मूर्ति तोड़ी हों, उसे मानने वाला निकाह के बाद उन्हें देवी-देवता को कैसे पूजने देगा?

हिंदू लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन मामले पर आज हम आपको फिर बताने जा रहे हैं कि कैसे हिंदू दलित लड़कियों को झूठी पहचान बता कर, उन्हें मीठी-मीठी बातों के जाल में फँसा कर दूसरे मजहब में कन्वर्ट करवाया जा रहा है।

उदाहरण के लिए कविता का मामला देखिए। उसे राहुल से प्यार हुआ और उसने उससे शादी भी की, लेकिन बाद में पता चला कि राहुल तो इमरान मलिक है। वो इमरान जिसने आर्य समाज मंदिर में शादी के बाद भी एक निकाहनामा बनवाया और उस पर कविता का नाम जोया करवा दिया। अब हिंदू लड़की की शिकायत ये थी कि इमरान ने उसे घर में मूर्ति पूजा नहीं करने दी।

यहाँ एक सवाल तो यही है कि मुस्लिम समुदाय के युवकों को पहचान छिपाकर हिंदू लड़की से मेल-जोल बढ़ाने की क्या आवश्यकता होती है? दूसरा सवाल यह है कि आखिर हिंदू लड़कियाँ कैसे सोच लेती हैं कि एक मजहब जिसने इतिहास में लूटपाट के नाम पर सिर्फ देवी-देवताओं की मूर्ति तोड़ी हों, वो आपको अपने घर ले जाकर भगवान की पूजा क्यों करने देगा? उन्होंने तो मान रखा है कि अल्लाह के सिवा कोई दूसरा भगवान नहीं है।

पूरी वीडियो को इस लिंक पर क्लिक करके देखें।

नोट: यह एक सीरीज है, इस सीरीज का यह पाँचवा वीडियो है। इसी सब्जेक्ट (हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन) पर और भी वीडियो आप हमारे यूट्यूब चैनल पर देख सकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दुर्गा पूजा कार्यक्रम में गरबा करता दिखा मुनव्वर फारूकी, सेल्फी लेने के लिए होड़: वीडियो आया सामने, लोगों ने पूछा – हिन्दू धर्म का...

कॉमेडी के नाम पर हिन्दू देवी-देवताओं को गाली देकर शो करने वाला मुनव्वर फारुकी गरबा के कार्यक्रम में देखा गया, जिसके बाद लोग आक्रोशित हैं।

धर्म ही नहीं जमीन भी गँवा रहे हिंदू: कब्जे की भूमि पर चर्च-कब्रिस्तान से लेकर मिशनरी स्कूल तक, पहाड़ों का भी हो रहा धर्मांतरण

जमीनी स्थिति भयावह है। सरकारी से लेकर जनजातीय समाज की जमीनों पर ईसाई मिशनरियों का कब्जा है। अदालती आदेशों के बाद भी जमीन खाली नहीं हो रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe