Wednesday, August 4, 2021
Homeव्हाट दी फ*180 साल जिंदा रहूँगा, इसके लिए अब तक ₹7.3 करोड़ खर्च कर चुका हूँ:...

180 साल जिंदा रहूँगा, इसके लिए अब तक ₹7.3 करोड़ खर्च कर चुका हूँ: अमेरिकी बिजनेसमैन का दावा

"मैंने खाने पर काबू कर, सोने का तरीका बदलकर और बुढ़ापा रोकने वाले तरीके अपनाकर खुद को इस तरह बना लिया है कि शरीर में कम से कम जलन (इन्फ्लेमेशन) हो।"

अमेरिका के एक अरबपति बिजनेसमैन ने अजीबोगरीब दावा किया है। उनका कहना है कि वह 180 सालों तक जिंदा रहेंगे। इसके लिए वे अब तक करोड़ों रुपए खर्च कर चुके हैं।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, अमेरिका के रहने वाले 47 वर्षीय डेव एस्प्रे (Dave Asprey) ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि वे 180 सालों तक जिंदा रहेंगे। उन्होंने बताया कि जवान रहने के लिए अब तक अपने शरीर पर वह करीब 7.3 करोड़ रुपए खर्च कर चुके हैं। लंबी उम्र बने रहने के इस तकनीक को उसने बायोहैकिंग का नाम दिया है।

रिपोर्ट्स की माने तो डेव एस्प्रे ने लाखों रुपए खर्चकर अपने शरीर के बोन मैरो से स्टेम सेल निकलवाकर इन्हें फिर से ट्रांसप्लांट करवाया है। उनका कहना हैं, “मैंने खाने पर काबू कर, सोने का तरीका बदलकर और बुढ़ापा रोकने वाले तरीके अपनाकर खुद को इस तरह बना लिया है कि शरीर में कम से कम जलन (इन्फ्लेमेशन) हो।”

हेल्थ डाइट और अपने स्टेम सेल को ट्रांसप्लांट करवाने को लेकर डेव ने कहा, “जब हम जवान होते हैं, तो शरीर में करोड़ों स्टेम सेल होती हैं। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, स्टेम सेल खत्म होने लगती हैं। इसलिए मैं इंटरमिटेंट फास्टिंग करता हूँ। इसमें जब शरीर भोजन नहीं पचा रहा होता है, तो वह खुद की मरम्मत करता है।”

ज्यादा उम्र जीने के लिए अरबपति बिजनेसमैन कोल्ड क्रायोथेरेपी चैंबर का उपयोग भी साथ-साथ करते है। बता दें यह एक ऐसा प्रोसेस है जोकि शरीर के क्षतिग्रस्त ऊतकों (टिश्यू) का कम तापमान में इलाज करता है।

डेव का मानना है कि 40 साल से कम उम्र वाले इन चीजों को अपनाकर 100 साल तक खुश और एक्टिव बने रह सकते हैं। इसलिए वह इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं। उनका मानना है कि खाली पेट रहने से शरीर खुद की मरम्मत करता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe