Wednesday, June 29, 2022
Homeव्हाट दी फ*बहन से ही ना करने लगे डेटिंग... खौफ में जी रहा 24 साल का...

बहन से ही ना करने लगे डेटिंग… खौफ में जी रहा 24 साल का लड़का क्योंकि पिता ने 500 बार डोनेट किया है स्पर्म

“मुझे नहीं पता कि मेरे कितने भाई-बहन हैं, इसकी वजह से मेरी डेटिंग लाइफ तबाह हो गई है। मैं टिंडर या कोई और डेटिंग एप चलाता हूँ तो मुझे नहीं पता होता है कि कौन मुझसे सम्बंधित है या कौन नहीं।"

अमेरिका स्थित ऑरेगोन के रहने वाले 24 वर्षीय ज़ेव फोर्स (zave fors) की कहानी जितनी विचित्र है उतनी ही फनी भी। उसे हाल ही में पता चला कि उसके पिता ने लगभग 500 बार स्पर्म डोनेट (sperm donate) किया है।

फोर्स इस बात से इतना सहम गया कि उसने डेटिंग एप्लीकेशन का इस्तेमाल करना ही बंद कर दिया। उसे इस बात का डर था कि कहीं वो अपने ही सिब्लिंग्स (उसके पिता की संतान) से न टकरा जाए। 

पिछले कुछ सालों में फोर्स ने ऐसे 8 लोगों को खोजा है लेकिन उसे अभी तक नहीं पता है कि असल में उसके कितने भाई-बहन हैं। उसका सबसे बड़ा डर यही है कि कहीं उसका सम्बंध उसके पिता की संतान से ही न बन जाए।

हाल ही में फोर्स ने अपना डीएनए टेस्ट कराया था, तब उसे पता चला कि उसके साथ स्कूल जाने वाला डैरन मक्लेन कोलन (Daron McLennan-Colon) उसका भाई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उसे इतना याद था कि डैरन उसके साथ स्कूल जाता था लेकिन रिश्ते का अंदाज़ा नहीं था। 

इस बारे में बात करते हुए फोर्स ने बताया, “वो स्कूल में मुझसे 2 साल बड़ा था। भले लोग दावा करते हैं कि इस तरह के टकराव की सम्भावनाएं कम होती हैं लेकिन फिर भी मुझे शक के दायरे में रहना पड़ता है। मेरे अन्य भाई बहनों के साथ भी कुछ ऐसा ही अनुभव हुआ है। वो एक-दूसरे के बेहद नज़दीक रहते थे। डैरन को भी ये बात जान कर हैरानी हुई कि उसका जन्म इस प्रक्रिया से हुआ है और नज़दीक ही उसकी बहन रहती है। उनमें से किसी के लिए भी इस बात पर भरोसा करना आसान नहीं था।”

टेस्ट के बाद फोर्स ने Ancestry.com की मदद से अपने पिता को ट्रेस किया। तब उसे पता चला कि उसके पिता ने बीते एक दशक में सैकड़ों बार स्पर्म डोनेट किया है और उनके लगभग 50 से ज़्यादा बच्चे हैं।

फोर्स का कहना है, “क्योंकि मुझे नहीं पता कि मेरे कितने भाई-बहन हैं, इसकी वजह से मेरी डेटिंग लाइफ तबाह हो गई है। जब मैं टिंडर या कोई और डेटिंग एप चलाता हूँ तो मुझे नहीं पता होता है कि कौन मुझसे सम्बंधित है या कौन नहीं है। मेरे हर रिश्ते में एक अजीब तरह का ख़तरा बना रहेगा। अपने हर पार्टनर का जेनेटिक परीक्षण करने के बावजूद मैं इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हो पाऊँगा कि हमारे बीच कोई रिश्ता नहीं है।”

फ़िलहाल फोर्स की अपने परिवार को लेकर खोज जारी है।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,225FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe