Monday, September 27, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकफैक्ट चेक: NDTV, कॉन्ग्रेस IT सेल की प्रमुख ने 'वंदे भारत एक्सप्रेस' के बारे...

फैक्ट चेक: NDTV, कॉन्ग्रेस IT सेल की प्रमुख ने ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ के बारे में फ़र्ज़ी ख़बर फैलाई

दिव्या स्पंदना ने फेक न्यूज़ शेयर करने के साथ ही पीयूष गोयल के नाम एक ऐसा बयान ट्वीट किया जिसमें रेल मंत्री ने कथित तौर ट्रेन-18 को पुलवामा आतंकी हमले का जवाब कहा था। ये बयान गोयल ने कभी दिया ही नहीं।

भारत की सबसे तेज़ रफ़्तार ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ की सफलता को ख़ारिज करने के लिए फर्जी ख़बरों का सहारा लेते हुए इसके बारे में झूठ फैलाने की कोशिश की गई। अभिनेता से नेता बनी दिव्या स्पंदना ने इसे लेकर न केवल नकली ख़बरों को गढ़ा, बल्कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर भी असंवेदनशील बयानों को फै़लाने की कोशिश की।

कॉन्ग्रेस आईटी सेल की प्रमुख और कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी की करीबी सहयोगी दिव्या स्पंदना ने अपने ट्वीट में कहा कि भारत की सबसे तेज़ गति से चलने वाली ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ एक मवेशी के आगे आने से बीच में रुक गई। उन्होंने ट्रेन के बारे में फर्ज़ी ख़बरों को फैलाने की कोशिश की।

यही नहीं दिव्या ने अपने पोस्ट के माध्यम से न केवल फ़र्ज़ी ख़बरों के प्रचार का सहारा लिया, बल्कि रेल मंत्री पीयूष गोयल को राजनीतिक रूप से निशाना बनाने और उन्हें ट्रोल करने के लिए भी कोशिश की।

बता दें कि ट्रेन-18, जिसे आधिकारिक तौर पर ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ नाम दिया गया है, उसको कुछ यात्रियों के साथ ट्रायल के तौर पर वाराणसी से दिल्ली के बीच चलाया गया था। ट्रेन जब दिल्ली लौट रही थी, तो दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर दूर टुंडला के पास एक मवेशी के चपेट में आ जाने के कारण ट्रेन को रोका गया था।

चूंकि मवेशी ट्रेन के पहिए के नीचे आ गया था, इसलिए आख़िरी कोच की संचार प्रणाली ट्रेन के नियंत्रण प्रबंधन प्रणाली को प्रभावित कर रही थी, जिसके चलते उसे अलग करते हुए ट्रेन को सुबह 8.15 बजे रवना किया गया था। बता दें कि ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ का इस्तेमाल किसी व्यवसायिक परिचालन की दृष्टि से नहीं किया गया था।

NDTV की झूठी ख़बर फैलाने की कोशिश

कॉन्ग्रेस और वामपंथियों को समर्थन देने वाला न्यूज चैनल NDTV जो झूठी ख़बरों को प्रसारित करने के लिए बदनाम हो चुके है, उसने भी इसके बारे में गलत ख़बर फ़ैलाने की कोशिश की। NDTV ने जानबूझकर मवेशी के टकराने की बात को नज़रअंदाज करते ट्रेन में तकनीकी ख़राबी की ख़बर प्रसारित करते हुए मोदी सरकार को निशाना बनाया।

जहाँ एक तरफ देश पुलवामा में शहीद हुए 44 सीआरपीएफ के जवानों को लेकर शोक मना रहा था, वहीं दूसरी ओर दिव्या स्पंदना ने भी एनडीए सरकार पर निशाना साधने की हड़बड़ी में NDTV की आधी-अधूरी रिपोर्ट का इस्तेमाल करते हुए ट्रेन-18 के बारे में झूठी ख़बर फैलाते हुए ट्रेन को विफल बताया।

गढ़ दिया गया पीयूष गोयल का फ़र्जी बयान

दिव्या स्पंदना भारतीय रेल को बदनाम करने के लिए पुलवामा हमले को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल को भी घसीटने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि पीयूष गोयल ने कथित तौर ट्रेन-18 को पुलवामा आतंकी हमले का जवाब कहा था, जबकि पीयूष गोयल ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया था।

कॉन्ग्रेस के सोशल मीडिया सेल प्रमुख ने बातों को खींचते हुए पुलवामा आतंकी हमले के मास्टरमाइंड आदिल डार को आतंकवाद में शामिल होने की बात को शर्मनाक तरीके से सही ठहराया। दिव्या स्पंदना ने इसके अलावा अल्ट्रा-लेफ्ट विंग वकील प्रशांत भूषण के एक ट्विटर को री-ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने देश के ख़िलाफ़ युद्ध छेड़ने के लिए आतंकवाद में शामिल होने वाले कश्मीरी युवाओं को सही ठहराया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,737FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe