Thursday, April 25, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेक'भारतीय पर्यटक दीप देसाई ने काबुल में किया अफगान लड़की का बलात्कार': जानिए क्या...

‘भारतीय पर्यटक दीप देसाई ने काबुल में किया अफगान लड़की का बलात्कार’: जानिए क्या है Pak मीडिया में चल रही खबर का सच!

जिस तस्वीर का प्रयोग किया जा रहा है, वो भारत में ही 'लव जिहाद' के एक आरोपित अब्दुल्लाह का है। मेरठ में एक हिन्दू लड़की के अपहरण और बलात्कार के मामले में उसे यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सबसे बड़ी बात तो ये कि अफ़ग़ानिस्तान में किसी भारतीय पर्यटक द्वारा किसी अफगान लड़की के बलात्कार की कोई पुष्ट खबर कहीं है ही नहीं।

पाकिस्तान के न्यूज़ पोर्टल्स पहले से ही फेक न्यूज़ फैलाने में अव्वल हैं। अब उन्होंने फिर से एक कारनामा किया है। अबकी पाकिस्तान में प्रतिष्ठित माने जाने वाले कई मीडिया संस्थानों ने एक व्यक्ति की तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया कि ये भारतीय पर्यटक दीप देसाई है, जिसने अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में एक अफगान लड़की का बलात्कार किया है। ये घटना दिसंबर 28, 2020 की बताई जा रही है।

पाकिस्तान मीडिया चला रहा है कि दीप देसाई नाम का ये व्यक्ति उस समूह का सरगना है, जिसने नाबालिग अफगान लड़की का सामूहिक बलात्कार किया और फिर इस करतूत का वीडियो भी फिल्मा लिया। रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि उसे अफ़ग़ानिस्तान की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 24 न्यूज़ एचडी, दुनिया न्यूज़ और टीवीआई डॉट कॉम डॉट पीके जैसे मीडिया संस्थानों ने इस खबर को प्रकाशित किया।

पाकिस्तान के यूट्यूब पर भी धड़ल्ले से चल रही फेक न्यूज़

यहाँ तक कि यूट्यूब पर भी कई वीडियो शेयर करके इसे हवा दी गई, क्योंकि पाकिस्तान में भारत विरोधी कोई भी कंटेंट सुपरहिट होता है, भले ही उसमें झूठ ही क्यों न हो। भारत विरोधी यूट्यूब चैनलों ने व्यूज बटोरने के लिए ये कारनामे किए। भारत के खिलाफ नकारात्मक माहौल बनाने के लिए ऐसा किया गया, ताकि यहाँ के पर्यटक को बलात्कारी साबित कर के भारतीयों को बदनाम किया जा सके।

चल रही फेक न्यूज़

अब आपको इस खबर की सच्चाई बताते हैं। जिस तस्वीर का प्रयोग किया जा रहा है, वो भारत में ही ‘लव जिहाद’ के एक आरोपित अब्दुल्लाह का है। मेरठ में एक हिन्दू लड़की के अपहरण और बलात्कार के मामले में उसे यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सबसे बड़ी बात तो ये कि अफ़ग़ानिस्तान में किसी भारतीय पर्यटक द्वारा किसी अफगान लड़की के बलात्कार की कोई पुष्ट खबर कहीं है ही नहीं। इसका कोई ओरिजिनल सोर्स ही नहीं है।

मेरठ में लव जिहाद की घटना का है ये आरोपित

पाकिस्तानी मीडिया चैनलों और पोर्टलों ने इस फेक न्यूज़ को भारत के ही एक ‘टीपब्लिक ऑफ बज’ नामक प्रोपेगंडा पोर्टल से उठाया था, जो अक्सर फेक न्यूज़ शेयर करता रहता है। इससे पहले उसने दिल्ली में हिन्दुओं द्वारा एक मुस्लिम लड़की के रेप की खबर प्रकाशित की थी, जो फेक निकली। उसने अफगानिस्तान की पुलिस के हवाले से इस खबर को चला दिया और पाकिस्तानी मीडिया आउटलेट्स ने उसे कॉपी कर लिया।

आपको याद होगा कि चार बच्चों के अब्बू और चार बीबियों के शौहर अब्दुल्लाह ने अमन चौधरी बनकर 17 साल की किशोरी को प्रेम जाल में फँसा लिया था और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया। ये खबर सितम्बर 2020 के मध्य में आई थी। पीड़ित किशोरी को पुलिस ने बरामद किया था, जिसके बाद अब्दुल्लाह भी दबोचा गया। ये घटना थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र की थी, जहाँ के रहने अले अधेड़ अब्दुल्लाह ने अमन चौधरी बनकर 17 साल की एक किशोरी को अपने प्रेमजाल में फाँसा था।

अब्दुल्ला अपना नाम अमन बताता था और नकली बाल लगाकर किशोरियों को प्रेम जाल में फँसाता था। इसके बाद आरोपित किशोरियों के साथ घिनौनी वारदात को अंजाम देता था। वो पहले से शादीशुदा है और उसके 4 बच्चे भी हैं। उसकी 4 बीवियाँ होने की बात भी पता चली थी। अब इसी की तस्वीर को पाकिस्तान का मीडिया उठाकर ‘अफ़ग़ानिस्तान का भारतीय बलात्कारी पर्यटक’ बता रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मार्क्सवादी सोच पर नहीं करेंगे काम: संपत्ति के बँटवारे पर बोला सुप्रीम कोर्ट, कहा- निजी प्रॉपर्टी नहीं ले सकते

संपत्ति के बँटवारे केस सुनवाई करते हुए सीजेआई ने कहा है कि वो मार्क्सवादी विचार का पालन नहीं करेंगे, जो कहता है कि सब संपत्ति राज्य की है।

मोहम्मद जुबैर को ‘जेहादी’ कहने वाले व्यक्ति को दिल्ली पुलिस ने दी क्लीनचिट, कोर्ट को बताया- पूछताछ में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला

मोहम्मद जुबैर को 'जेहादी' कहने वाले जगदीश कुमार को दिल्ली पुलिस ने क्लीनचिट देते हुए कोर्ट को बताया कि उनके खिलाफ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe