Friday, June 14, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेकPETA वाली महिला गोरिल्ला के वीर्य से हुई गर्भवती... प्रजाति बचाने के लिए उठाया...

PETA वाली महिला गोरिल्ला के वीर्य से हुई गर्भवती… प्रजाति बचाने के लिए उठाया कदम – Fact Check

"कई सालों तक मैंने अपनी योनि पर गोरिल्ला का वीर्य रगड़ा। असफल रही। फिर मुझे एहसास हुआ कि मैं IVF से गोरिल्ला के शुक्राणु और अंडाणु का उपयोग कर इस लुप्त होते जानवर की सरोगेट माँ बन सकती हूँ। ऐसा करके मैं इस लुप्त होते जानवर की प्रजाति को बचा सकती हूँ।"

“कई सालों तक मैंने अपनी योनि पर गोरिल्ला का वीर्य रगड़ा। असफल रही। फिर मुझे एहसास हुआ कि मैं IVF (in vitro fertilization) से गोरिल्ला के शुक्राणु और अंडाणु का उपयोग कर इस लुप्त होते जानवर की सरोगेट माँ बन सकती हूँ। ऐसा करके मैं इस लुप्त होते जानवर की प्रजाति को बचा सकती हूँ।”

सैन डिएगो चिड़ियाघर की पूर्व जीवविज्ञानी मौली हीथर ने मीडिया से ऊपरोक्त बातें कहीं। मौली हीथर सिर्फ 23 साल की हैं। इतनी कम उम्र में लुप्त होते जानवर की प्रजाति को बचाने के लिए इतना बड़ा त्याग उन्होंने किया, इस खबर को मीडिया ने लपक लिया।

worldnewsdailyreport के अनुसार मौली हीथर IVF के माध्यम से किसी अन्य प्रजाति के जानवर को सफलतापूर्वक जन्म देने वाली पहली औरत हो सकती हैं। रिपोर्ट के अनुसार सैन डिएगो चिड़ियाघर में रहने वाले 12 साल के मध्य-पूर्वी अफ्रीकी गोरिल्ला (इसका नाम है – जॉर्ज, गोरिल्ला जॉर्ज) को मौली हीथर के गर्भ में पल रहे भ्रूण का पिता माना जा रहा है।

विदेशी मीडिया में प्रकाशित हुई इस खबर को देशी मीडिया ने भी लपक लिया। sirfnews में भी यह खबर प्रकाशित की गई। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि मौली हीथर समलैंगिक हैं और उन्होंने अपने जीवन में कभी किसी पुरुष के साथ यौन संबंध नहीं बनाए हैं।

सैन डिएगो चिड़ियाघर की पूर्व जीवविज्ञानी मौली हीथर ने अपने ऊपर लगे भयंकर आरोप को स्वीकारते हुए कहा – “मैंने गोरिल्ला के साथ संभोग भी किया था… लेकिन यह सिर्फ उसकी प्रजाति को संरक्षित करने के लिए किया गया था न कि यौन संतुष्टि के लिए। मध्य-पूर्वी अफ्रीकी गोरिल्ला गंभीर रूप से विलुप्त होने के खतरे में है, मेरा मानना ​​है कि प्रजातियों को बचाने के लिए क्रॉस-प्रजाति संकरण ही एकमात्र तरीका है।”

ऊपर एक आम खबर है। पढ़ने लायक, उत्सुकता जगाने लायक। नीचे इस खबर की चीर-फाड़ की गई है… आपको सच बतलाने के लिए।

महिला गोरिल्ला के वीर्य से हुई गर्भवती?

जहाँ से यह खबर ली गई है, पहले उसे जाँचते हैं। क्यों? क्योंकि अपनी देशी मीडिया भी वहीं से माल उठाई है – वाक्य-2-वाक्य, शब्द-बाइ-शब्द!

worldnewsdailyreport – ऐसी वेबसाइट जो व्यंग्य प्रकाशित करती है

कौन हैं महिला, जिसकी फोटो लगा मीडिया चला रही?

जिस महिला की फोटो खबरों में लगा कर मीडिया चला रही है, उनका नाम है कर्स्टी हेंडरसन (Kirsty Henderson)… जबकि रिपोर्ट में उनका नाम मौली हीथर बताया जा रहा है।

ऊपर आप कर्स्टी हेंडरसन (Kirsty Henderson) की वीडियो देख सकते हैं।

फैक्ट चेक: PETA वाली महिला गोरिल्ला से नहीं हुई गर्भवती

मीडिया जिस महिला की फोटो लगा कर खबर चला रही है, उस महिला का नाम तक गलत लिखा गया है। जिस वेबसाइट से यह खबर सब जगह फैली, वो वेबसाइट अपने-आप में खबरों की वेबसाइट न होकर व्यंग्य की वेबसाइट है। इसलिए पाठकों को बता दें कि सैन डिएगो चिड़ियाघर की पूर्व जीवविज्ञानी और PETA की कार्यकर्ता मौली हीथर गोरिल्ला के वीर्य से गर्भवती नहीं हुई हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -