Saturday, May 25, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेक'बीजेपी नेताओं का आना मना है': घरों पर लगे पोस्टरों को शामली पुलिस ने...

‘बीजेपी नेताओं का आना मना है’: घरों पर लगे पोस्टरों को शामली पुलिस ने बताया शरारती तत्वों की शरारत, अब होगी कार्रवाई

खबर में गाँव वालों के गुस्से के पीछे गन्ने का भुगतान, बेरोजगारी और गौवंश द्वारा फसलों के नुकसान को बताया गया है। इसी के साथ किसी हरेंद्र ताऊ का भी जिक्र किया गया है।

उत्तर प्रदेश के शामली जिले में एक मकान के आगे लगा एक पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस पोस्टर में लिखा है, “इस मकान के अंदर बीजेपी वालों का आना मना है। केवल RLD वालों का ही प्रवेश है। आज्ञा से अंकुर कुमार, RLD”। कुछ ही देर में इस पोस्टर पर कई मीडिया संस्थानों ने खबर भी बना डाली।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि शामली विधानसभा क्षेत्र के गाँव लिलौन में कई लोगों ने अपने घरों और गेट पर लिखा है कि भाजपा वालों का आना मना है। इस खबर को अंकुर कुमार, पिटू सिंह, साहब सिंह, ओमपाल सिंह, वीर सिंह, गुड्डू, रामवीर, नीटू कुमार, रविद्र कुमार आदि के बयानों के आधार पर बनाया गया। खबर में गाँव वालों के गुस्से के पीछे गन्ने का भुगतान, बेरोजगारी और गौवंश द्वारा फसलों के नुकसान को बताया गया है। इसी के साथ किसी हरेंद्र ताऊ का भी जिक्र किया गया है।

वहीं, शामली पुलिस की जाँच में यह मामला किसी की सोची समझी शरारत पाया गया है। शामली पुलिस ने इस पूरे मामले में जवाब दिया है। पुलिस के मुतबिक, “जाँच करने पर मकान मालिक ने बताया कि कुछ शरारती तत्वों द्वारा मकान मालिक की मर्जी के बिना ऐसा कार्य किया गया था। लिखा हुआ पोस्टर मिटा दिया गया है। और आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SFI के गुंडों के बीच अवैध संबंध, ड्रग्स बिजनेस… जिस महिला प्रिंसिपल ने उठाई आवाज, केरल सरकार ने उनका पैसा-पोस्ट सब छीना, हाई कोर्ट...

कागरगोड कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ रेमा एम ने कहा था कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को शारीरिक संबंध बनाते देखा है और वो कैंपस में ड्रग्स भी इस्तेमाल करते हैं।

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -