Saturday, May 18, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेकहमने शुरू की तीर्थ यात्रा योजना, BJP ने कॉपी किया: केजरीवाल हो रहे थे...

हमने शुरू की तीर्थ यात्रा योजना, BJP ने कॉपी किया: केजरीवाल हो रहे थे चौड़े, CM शिवराज बोले- जब अस्तित्व में नहीं थी AAP, तब से चल रही ये स्कीम

ऑपइंडिया ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल के दावों की अपने स्तर पर पड़ताल की। मध्य प्रदेश सरकार के धार्मिक न्याय विभाग की वेबसाइट पर हमें मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा योजना की जानकारी मिली।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार (4 नवम्बर 2023) को प्रदेशवासियों के लिए ‘मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना’ का ऐलान किया था। इस घोषणा पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने रविवार (5 नवम्बर 2023) को इसे आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा शुरू की गई योजना करार दे दिया।

हालाँकि इस दावे पर पलटवार करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को ही इसे अपने प्रदेश में अपनी सरकार द्वारा साल 2012 में ही शुरू की गई योजना बताया और दावा किया अरविन्द केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं।

अब सच्चाई क्या है इसके लिए ऑपइंडिया ने दोनों प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के दावे की पड़ताल की…

केजरीवाल का दावा

दरअसल, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना’ का ऐलान किया। इसमें उन्होंने वाराणसी, प्रयागराज, मथुरा, अमृतसर, पटना साहिब आदि तीर्थ स्थानों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा रेलवे की फ्री यात्रा की जानकारी दी। इस योजना का लाभ 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को मिलेगा। अरविन्द केजरीवाल ने अगले दिन रविवार को इस योजना को भाजपा सरकार द्वारा अपनी सरकार की नकल करार दिया।

अपने X हैंडल पर अरविन्द केजरीवाल ने रविवार को लिखा, “मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना पूरे देश में अभी तक केवल दिल्ली में चल रही थी। पहली बार दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने चलाई। इस योजना के तहत हम दिल्ली के 75,000 से ज़्यादा बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा करवा चुके हैं। हमें ख़ुशी है कि बीजेपी हमारी सरकार से सीखकर काम करने की कोशिश कर रही है। खट्टर साहिब, अगर इसके कार्यान्वन में कोई तकलीफ़ आये तो पूछ लीजिएगा, हरियाणा वासियों की मदद करने में हमें बड़ी ख़ुशी होगी।”

शिवराज सिंह चौहान ने केजरीवाल को बताया झूठा

रविवार को ही शिवराज सिंह चौहान ने अरविन्द केजरीवाल के ट्वीट को कोट (Quote) किया। उन्होंने लिखा, “अरविंद जी, झूठ के अपने शीश महल से बाहर निकलिए और आँखें खोलकर देखिए। जब ‘आप’ का अस्तित्व भी नहीं था, तब से मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन करवा रही है। भाजपा की हमारी सरकार ने 2012 में ‘मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना’ प्रारंभ की थी और अब तो हम हवाई जहाज से भी यात्राएं करा रहे हैं।”

शिवराज सिंह का दावा सही

ऑपइंडिया ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल के दावों की अपने स्तर पर पड़ताल की। मध्य प्रदेश सरकार के धार्मिक न्याय विभाग की वेबसाइट पर हमें मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा योजना की जानकारी मिली।

इसमें साफ़ तौर पर योजना के जून 2012 में शुरू होने की जानकारी दी गई है। योजना के पात्र तीर्थयात्रियों को स्पेशल ट्रेन से न सिर्फ यात्रा बल्कि नाश्‍ता, भोजन, पीने का पानी, ठहरने का इंतजाम, बस आदि की व्यवस्था सरकार करवाती है।

वहीं अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व में मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना महज 5 साल पहले शुरू हुई थी। तब साल 2018 में शुरू हुई यह योजना बीच में लगभग 23 माह बंद भी रही थी। दिल्ली सरकार की योजना में वृन्दावन और हरिद्वार के साथ अजमेर शरीफ का भी नाम है।

योजना के अंतर्गत दिल्ली की प्रत्येक विधानसभा से हर साल 1100 बुजुर्गों को यात्रा कराने का प्रावधान है। हालाँकि सितंबर 2023 में भी एक कार्यक्रम के दौरान अरविन्द केजरीवाल इस योजना को सबसे पहले अपने दौरा शुरू किए जाने का दावा कर चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -