फैक्ट चेक: पुराना लेख चला कॉन्ग्रेस प्रवक्ता फैला रहे EVM के बारे में फेक न्यूज़

पर जब हमने देखा तो उन्होंने अभी की ‘गड़बड़’ EVM के विषय में जो लेख शेयर किया है, वह लगभग ठीक सवाल पूछे जाने के समय का है।

कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और झारखण्ड में पार्टी के अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार ट्विटर पर EVM के विषय में फेक न्यूज़ फैलाते पकड़े गए हैं। 3 अप्रैल 2014 को टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपे EVM में खराबी के बारे को एक लेख को उन्होंने ऐसे शेयर किया जैसे वह वर्तमान लोकसभा चुनावों के दौरान अभी हो रही घटना हो।

पकड़े जाने पर गोलमोल जवाब

जब एक आम ट्विटर यूजर ने उन्हें उनके द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम के बारे में पूछा तो उन्होंने उल्टा उसे ही उसकी उपलब्धियों पर सवाल पूछना शुरू कर दिया। साथ ही यह दावा भी किया कि उन्होंने इस समय की ‘गड़बड़’ EVM के बारे में भी ट्वीट किया है।

पर जब हमने देखा तो उन्होंने अभी की ‘गड़बड़’ EVM के विषय में जो लेख शेयर किया है, वह लगभग ठीक सवाल पूछे जाने के समय का है। उनके पहले ट्वीट को पुराना बताया जाना और उनका आज की EVMs के बारे में ट्वीट दोनों ही सुबह 4.59 के हैं, जबकि उनका 2014 के चुनावों की EVM खराबी को चुपचाप आज के चुनाव जैसा दिखाने वाला पहला ट्वीट आधे घंटे पहले का है। उन्होंने ट्विटर यूजर को जवाब भी 5 मिनट बाद 5.04 पर दिया था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ऐसे में या तो यह फ़िल्मी संयोग है कि एक यूजर ने उनके पहले ट्वीट का झूठ ठीक उसी समय पकड़ा जब उन्होंने दूसरा ट्वीट किया, या फिर दूसरा ट्वीट पहले की सच्चाई पकड़े जाने के बाद किया गया। हमें दूसरी सम्भावना के अधिक आसार लग रहे हैं!

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: